अलीगढ़, जेएनएन । अप्रैल माह बीतने को है अभी भी मौसम में परिवर्तन देखने को मिल रहा है। कभी भीषण गर्मी का अहसास होने लगता है तो कभी मौसम खुशगवार हो जाता है। ऐसे में बहुत सतर्क रहने की आवश्‍यकता है। बीते शुक्रवार का अचानक मौसम में बदलाव देखने को मिला। बूंदाबांदी के साथ ठंडी हवाओं ने मौसम खुशनुमा कर दिया था। करीब 10 मिनट तक बूंदाबांदी का क्रम चलता रहा। हालांकि, इस बीच धूप भी निकली रही। बारिश से तेज गर्मी से कुछ राहत जरूर मिली। इसका असर रविवार को भी देखने को मिला। सुबह तेज धूप निकली लेकिन ठंडी हवाओं ने गर्मी का अहसास नहीं होने दिया।

मौसम में आया बदलाव 

इधर, चार दिनों से मौसम में थोड़ा परिवर्तन था। सुबह और शाम नमी भरी हवा चल रही थी। हल्की हवा में नमी होने से लोग राहत महसूस कर रहे थे। मगर दोपहर में तेज धूप के चलते गर्मी का लोगों से लोगों का हाल बेहाल था। बीते शुक्रवार को सुबह से ही मौसम बदला हुआ लग रहा था। सुबह 10:00 बजे भी हल्के बादल छाए हुए थे। खिली धूप नहीं निकली थी। इससे आसार बन रहा था कि मौसम बदल सकता है। हालांकि दोपहर 12:00 बजे कड़ी धूप निकल आई, जिससे एक बारगी फिर गर्मी से लोग परेशान होने लगे। मगर, दोपहर तीन बजे अचानक मौसम ने करवट ली, बादल छा गए। दोपहर 3:30 बजे बजे बारिश शुरू हो गई। 10 मिनट तक बारिश की मोटी-मोटी बूंदें धरती पर पड़ती रही। इससे धरती की कुछ तपन कम हुई है। मगर खुलकर बारिश ना होने से धरती की उमस लोगों को जरूर परेशान करेगी। वहीं, बारिश शुरू होने से लोग जहां थे वहां ठहर गए।

किसानों के लिए राहत की बारिश

अप्रैल बीतने वाला है ऐसे में यह बारिश किसानों के लिए कुछ राहत भरी है। क्योंकि 90 फीसद गेहूं खेतों में कट चुका है। कुछ स्थानों पर ही पछेती रह गया है । उसकी ही कटान चल रही है। इससे खेत पूरी तरह से खाली पड़े हुए हैं। किसान धान की पौध लगाने की तैयारी में हैं। बारिश होने से खेतों में नमी होगी और खेतों की जुताई करने में आसानी होगी। हालांकि, बारिश की जरूरत है, मौसम विभाग ने पहले ही बता दिया है कि इस बार जून और जुलाई में अच्छी बारिश होगी। जिससे धान के किसानों को फायदा होगा।