अलीगढ़, जेएनएन।  लगातार हो रही बारिश से शहर में जलभराव की विकट स्थिति खड़ी हुई। जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। मगर इस झमाझम बारिश ने लोगों को भीषण उमस और गर्मी से राहत जरूर दिलाई। गुरुवार सुबह बारिश थमने से लोगों को राहत महसूस हुई। मगर बादलों में सूर्य की लुकाछिपी से भी लोगों को राहत मिली। बारिश थमने से जहां लोग जरूरी कामों को करने के लिए घरों से निकले, वहीं उमस व गर्मी से भी उनको राहत रही। करीब 30 डिग्री सेल्सियस के तापमान में लोगों ने बारिश की संभावना के बीच छाता लेकर ही घरों से निकलना मुनासिब समझा।

पूरे दिन छाए रहेंगे बादल

हालांकि मौसम विशेषज्ञों का अनुमान है कि पूरे दिन बादल छाए रहेंगे। शाम को तेज बारिश होने की संभावना भी जताई है। वहीं दोपहर को सूर्य के बादलों में छिपे रहने से उमस या गर्मी जैसी स्थिति नहीं बनेगी। लगातार बारिश और उससे शहर में हुए जलभराव से घरों में दुबकने को मजबूर हुए लोग गुरुवार को हल्की धूप खिलने के बाद जरूरी कामों को निपटाने के लिए बाजार भी निकले। सब्जी व फलों के ठेले लगाने वाले भी खुले मौसम में बिक्री की आस में सुबह से तैनात हुए। बारिश के बाद मौसम साफ होने पर बाजारों में भी भीड़ उमड़ी। लोगों का मानना था कि अगर फिर तेज बारिश हुई तो जरूरी सामान नहीं खरीद पाएंगे। हालांकि इस बारिश ने स्मार्ट सिटी में शामिल अलीगढ़ की व्यवस्थाओं की पोल भी खोलकर रख दी है। इसलिए लोगों का ये भी कहना है कि बारिश होना तो ठीक है लेकिन ये जलभराव और उसमें गिरकर लोगों का चोटिल होने की घटनाएं सही नहीं। इसलिए नगर निगम या जो भी जिम्मेदार संस्था हैं वो समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाएं।

 

Edited By: Anil Kushwaha