जासं, अलीगढ़ : टप्पल में बच्ची की मौत के बाद देररात तक तनाव बना हुआ था। एक तरफ परिवार के लोगों का रो-रोकर बुरा हाल था तो दूसरी तरफ थाने में ग्रामीणों की भीड़ जुटी थी। ग्रामीण जल्द से जल्द आरोपितों की गिरफ्तारी की माग पर अड़े थे। पुलिस ने उन्हें आश्वासन देकर शात किया। रात करीब साढ़े 11 बजे के बाद लोग थाने से निकले।

आठ साल की बच्ची दो भाइयों में अकेली बहन थी। एक भाई तीन साल, जबकि सबसे छोटा एक साल का है। स्वजन के मुताबिक, लाकडाउन में लंबे समय से स्कूल बंद थे तो बच्ची घर पर ही थी। अभी कुछ दिनों से ही उसने स्कूल जाना शुरू किया था। कभी दादी के साथ चली जाती थी तो कभी अन्य बच्चों के साथ। लेकिन, सोमवार को सुबह बच्ची स्कूल जाने के लिए लेट हो गई थी। ऐसे में अकेली ही चली गई थी। जिसका शव एक खेत में मिला। स्वजन का कहना है कि अपहरण के बाद हत्या की गई है। उन्होंने किसी पर शक नहीं जताया है। 12 बजे तक चल रहा था पोस्टमार्टम

देररात 12 बजे तक चिकित्सकों के पैनल ने बच्ची का पोस्टमार्टम किया। शव के रात ढाई बजे तक गाव पहुंचने की बात बताई जा रही थी। वहीं स्वजन ने पोस्टमार्टम के बाद तहरीर देने की बात कही है। बच्ची का पिता पलवल की एक फैक्ट्री में काम करता है। आधा घटा चला सर्च अभियान

एसएसपी ने घटनास्थल पर पहुंचकर पूरे इलाके को खंगलवा दिया। पुलिसकíमयों ने आधा घटा तक आसपास के खेतों में गहन सर्च अभियान चलाया। हालाकि, कहीं कोई संदिग्ध बात नजर नहीं आई। पुलिस के लिए यह केस अंधेरे में सुई तलाशने जैसा है। सीबीआइ जाच की माग

दोपहर में ग्रामीणों ने शव को उठने नहीं दिया। लोग सीबीआइ जाच की माग पर अड़े थे। करीब दो घटे बाद जब पुलिस शव को ले जाने लगी, तब भी आधा किलोमीटर तक लोग गाड़ी के पीछे भागे। इन्हें पुलिस फोर्स ने संभाला।

इनसेट

दो साल पहले बच्ची की हत्या से दहला था टप्पल

अलीगढ़ : टप्पल की घटना ने दो साल पहले हुई बच्ची की हत्या की यादें ताजा कर दी हैं। तब हत्या का आक्रोश देशभर में फैला था। एक महीने तक गाव में तनाव बना रहा। हालाकि वर्तमान में मामला कोर्ट में चल रहा है।

टप्पल में 30 मई 2019 को ढाई साल की बच्ची घर से गायब हो गई थी। दो जून की सुबह उसका शव घर से 100 मीटर दूर कूड़े के ढेर पर मिला था। बच्ची की हत्या से पूरे देश में गुस्सा था। बालीवुड सितारों व राजनीतिक हस्तियों ने इंटरनेट मीडिया पर आक्रोश जताया था। पुलिस ने जाहिद, उसकी पत्नी सबुस्ता, भाई मेहंदी हसन व पड़ोसी असलम को जेल भेज दिया था। इनमें जाहिद, सबुस्ता व मेहंदी हसन हाईकोर्ट से जमानत के बाद बाहर हैं। मामले में शुरू में पाक्सो की धारा जोड़ी गई थी, लेकिन फोरेंसिक जाच में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई। ऐसे में केस में हत्या की धारा ही रह गई। अब कोर्ट में गवाही चल रही है। टप्पल में बच्ची की मौत पर

बसपा-काग्रेस ने जताया रोष

जासं, अलीगढ़ : टप्पल में मासूम की मौत की जानकारी पर बसपा का प्रतिनिधि मंडल घटना स्थल पर पहुंचा और पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद का आश्वासन दिलाया। इसके बाद प्रतिनिधिमंडल पोस्टमार्टम हाउस भी गया। हरियाणा काग्रेस के प्रभारी विवेक बंसल ने सीएमओ से चिकित्सकों के पैनल के साथ शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए फोन पर से बातचीत की। सबूतों के साथ छेड़-छाड़ न हो, इसके लिए वीडियो ग्राफी पर जोर दिया। जिलाध्यक्ष संतोष सिंह ने कहा कि अकराबाद प्रकरण का अभी पर्दाफाश नहीं हुआ है, अब एक ओर घटना को अंजाम दे दिया गया। पूर्व प्रदेश महासचिव रूही जुबैरी व महानगर अध्यक्ष सलाउद्दीन वसी ने अपराधियों को गिरफ्तार करने की माग की है। इन सभी ने बेटी के स्वजन से घटना की जानकारी ली। उन्हें सात्वना दी। इस मौके पर काग्रेस के प्रदेश सचिव व अलीगढ़ प्रभारी मुकेश धनगर, नदीम गफूर, नेपाल सिंह सविता, सागर सिंह तोमर, चौधरी विजयपाल सिंह, साबिर खान डा. जमील, सागर सिंह तौमर, डा. शेरपाल सविता, शीलू चंदेल, शकील खान, मोहम्मद अनवार, फराज खान, जोहेब खान, पिंकू बघेल आदि मौजूद थे। बसपा के मुख्य सेक्टर प्रभारी अशोक सिंह व जिलाध्यक्ष रतन दीप सिंह के नेतृत्व में पार्टी का प्रतिनिधि मंडल घटना स्थल पर पहुंचा। रतन दीप सिंह ने कहा कि जिले में अपराध चरम पर है। हर रोज बहन-बेटिया दबंग व बदमाशों के निशाने पर हैं। अभी तक अकराबाद की घटना का पुलिस ने राजफाश नहीं किया है, मायावती की सरकार बनने पर इन गुंडों व दबंगों को सबक सिखाया जाएगा। इस मौके पर बसपा के शहर विधानसभा अध्यक्ष छत्रपाल सिंह, अशोक कश्यप, रविंद्र फगोई आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran