अलीगढ़, जागरण संवाददाता। स्थानीय निकाय सफाई मजदूर संघ के बैनर तले कर्मचारी नेता अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को लखनऊ में प्रमुख सचिव नगर विकास से मिलेंगे। प्रांतीय अध्यक्ष मानिक लाल नागर व महामंत्री बिल्लू चौहान ने बताया कि संगठन की 14 सूत्रीय मांगें लंबित पड़ी हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर सचिवालय में प्रमुख सचिव से इस पर चर्चा की जाएगी। संगठन ने प्रदेश में एक लाख सफाई कर्मचारियों की भर्ती, 2006 से कार्यरत संविदा कर्मचारियों को स्थाई करने, आउटसोर्सिंग सफाई कर्मचारियों का वेतन 18 हजार प्रतिमाह वेतन देने समेत अन्य मांगें उठाई हैं।

कल 21 जिलों में होगा प्रदर्शन

अलीगढ़ : राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के कर्मचारियों ने सोमवार को प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने कहा कि प्रबंधन दमनकारी रैवया अपनाने में लगा हुआ है, इसलिए विवश होकर आंदोलन को बड़ा करना पड़ रहा है। सोमवार को संगठन के कर्मचारियों ने मुख्य अभियंता मुकुल सिंघल को ज्ञापन सौंपा। बुधवार को दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के 21 जिलों में आंदोलन होगा। सभी जेई, एसडीओ आंदोलन में रहेंगे। हम साथियों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे

यह है मामला

रामघाट-कल्याण मार्ग पर स्थित एक निजी अस्पताल में 2.03 करोड़ रुपये के जुर्माने के मामले में अब तक विद्युत विभाग के तीन कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई हो चुकी है। एसडीओ सतवीर सिंह, जेई प्रशांत वाष्र्णेय को निलंबित कर दिया गया था। दो दिन पहले अधिशासी अभियंता एके कपिल को भी निलंबित कर दिया गया। राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के जनपद अध्यक्ष प्रवीन शाक्य का कहना है कि प्रबंधन साथियों पर कार्रवाई करके मनोबल गिराना चाहता है, मगर हम सभी झुकने वाले नहीं हैं। न्याय के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार हैं। मंगलवार को यदि बात नहीं बनी तो बुधवार को 21 जिलों में विद्युत कर्मचारी प्रदर्शन करेंगे। इस अवधि में विद्युत आपूर्ति यदि बाधित होती है तो इसकी सारी जिम्मेदारी प्रबंधन की होगी।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena