अलीगढ़ (जेएनएन)। प्रदेश में शहर की सरकार चुने जाने के क्रम में आज 16 मेयर तथा सभासदों का शपथ ग्रहण समारोह है। तालानगरी अलीगढ़ में आज मेयर के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान राष्ट्रगीत का समाजवादी पार्टी के साथ ही बहुजन समाज पार्टी के कई नेताओं ने विरोध किया। 

अलीगढ़ के नुमाइश मैदान में मेयर के शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रगीत वंदे मातरम बजने के दौरान समाजवादी पार्टी तथा बहुजन समाज पार्टी के नेता इसके सम्मान में खड़े नहीं हुए। आज शपथ ग्रहण समारोह के दौरान राष्ट्रगीत बजने पर सपा व बसपा के कई नेता अपनी कुर्सी पर बैठे रहे। 

भाजपा से 22 साल पुरानी कुर्सी पर पहली बार जीती बसपा के साथ भाजपा का टकराव शुरू हो ही गया। सदन में पहले से अल्पमत बसपा के पार्षदों ने शपथग्रहण समारोह में जो आचरण दिखाया, उससे एक बार फिर तमाम मर्यादाएं धूमिल होती नजर आईं। कृष्णांजलि नाट्यशाला में समारोह की शुरुआत वंदे मातरम के साथ हुई। इस दौरान बसपा के मुस्लिम पार्षद खड़े  तक नहीं हुए।

मेयर की गाड़ी पर पथराव, पुलिस ने मुश्किल से निकाला।हालांकि मेयर या उनकी गाड़ी को कोई नुकसान नहीं हुआ है। उनकी तरफ दो पत्थर फेंके गए थे।

इससे भाजपाई बिफर गए और बसपा के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करने लगे। इसे लेकर पूर्व विधायक जमीरउल्लाह खां की भाजपाइयों से खूब नोक-झोंक भी हुई। अफसरों ने जैसे-तैसे माहौल संभाला, लेकिन शपथ ग्रहण के दौरान बसपा के वार्ड 54 से पार्षद मसर्रत ने उर्दू तर्जुमा करके बोलना शुरू कर दिया।

इसे लेकर फिर हंगामा शुरू हो गया। भाजपाइयों ने 'जो हिंदू की बात करेगा, वही देश पर राज करेगा', 'हिंदुस्तान में रहना होगा तो वंदे मातरम कहना होगा' जैसे नारे लगाने शुरू कर दिए। बता दें कि मसर्रत ने पहले भी उर्दू में शपथ दिलाने की मांग की थी, जिसे निगम ने खारिज कर दिया था। बसपा के महापौर मोहम्मद फुरकान और पार्टी ने भी भाषा विवाद को गलत बताते हुए पल्ला झाड़ लिया था।

नुमाइश मैदान में शपथ ग्रहण समारोह की शुरूआत वंदेमातरम से हुई, जिसमें सपा व बसपा के कई नेता खड़े नहीं हुए। समारोह के दौरान मेयर बसपा के फुरकान व 70 पार्षदों को शपथ दिलाई जानी है।

इनमें से 35 भाजपा, 21 बसपा, आठ सपा, दो कांग्रेस और चार निर्दलीय हैं। जिले में 12 निकायों में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जा रहा है। इनमें दो नगर पालिका व नौ नगर पंचायत हैं।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप