जासं, अलीगढ़ : अक्टूबर महीने में दूसरे चरण के राशन वितरण की बुधवार से शुरुआत हो गई है। डीएसओ राजेश कुमार सोनी ने वितरण के पहले दिन कौड़ियागंज की तीन दुकानों का निरीक्षण किया। इसमें शीला देवी की राशन की दुकान पर अभिलेख पूर्ण नहीं पाए गए। वहीं, दूसरे डीलर सुशील कुमार की दुकान बंद थी। ऐसे में अब पूर्ति विभाग की तरफ से दोनों डीलरों को कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। अगर समय से संतोषजनक जवाब नहीं मिलता है तो फिर आगे की कार्रवाई होगी। तीसरी दुकान पर वितरण सही मिला।

डीएसओ राजेश कुमार सोनी ने बताया कि अक्टूबर के पहले चरण में मुफ्त में राशन बांटा गया था। इसमें प्रति यूनिट पांच किलो गेहूं दिए गए थे। इस बार चावल का वितरण नहीं हुआ था। अब बुधवार से दूसरे चरण का वितरण शुरू हो गया है। इसमें गेहूं चावल दोनों का वितरण हो रहा है। पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों को प्रति यूनिट पांच किलो राशन (तीन किलो गेहूं व दो किलो चावल) दिया जा रहा है। वहीं, अंत्योदय कार्ड धारकों को एक मुश्त 35 किलो (20 किलो गेहूं व 15 किलो चावल) राशन का वितरण हो रहा है। गेहूं की कीमत दो रुपये प्रति किलो व चावल की कीमत तीन रुपये प्रति किलो रखी गई है।

इनसर्ट ही

अब कोटेदार करेंगे धान बिक्री के लिए किसानों का पंजीकरण

एक अक्टूबर से धान खरीद की शुरुआत हो चुकी है। शासन स्तर से सरकारी केंद्रों पर धान बिक्री के लिए किसानों का आनलाइन पंजीकरण अनिवार्य किया गया है। ऐसे में किसानों को पंजीकरण कराने में कोई दिक्कत न हो, इसके लिए गांव में ही सहूलियत दी गई है। अब कोटेदारों का इस कार्य में सहयोग लिया गया है। वह अपने लैपटाप व मोबाइल के माध्यम से गांव में ही किसानों का पंजीकरण करेंगे। स्टेप एक से स्टेप पांच तक नियमों का पालन करना होगा।

डीएसओ राजेश कुमार सोनी ने बताया कि सभी डीलरों को इसके लिए निर्देशित कर दिया गया है। कोई भी किसान गांव के ही डीलर के पास जाकर धान खरीद के लिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं। मुफ्त में यह पंजीकरण होगा।

Edited By: Jagran