अलीगढ़ (जेएनएन)। इगलास विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव के लिए नामांकन की प्रक्रिया सोमवार को पूरी हो गई। अंतिम दिन भाजपा प्रत्याशी राजकुमार सहयोगी समेत छह ने पर्चे जमा किए। रालोद प्रत्याशी सुमन दिवाकर ने बिना बी फॉर्म ही अपना नामांकन किया, जिसे निर्वाचन अधिकारी ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर स्वीकार किया। इसको लेकर हंगामा हुआ। इनके साथ एक ही प्रस्तावक था। जबकि, निर्दलीय के लिए 10 प्रस्तावक होना अनिवार्य है। ऐसे में इनका नामांकन पत्र जांच में खारिज होना लगभग तय माना जा रहा है।

रालोद कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा

नामांकन के बाद रालोद कार्यकर्ताओं ने हंगामा कर दिया। प्रत्याशी सुमन दिवाकर ने निर्वाचन अधिकारी को  भाजपा का एजेंट बताते हुए जानबूझ कर बी फॉर्म न लेने व प्रस्तावक को नामांकन कक्ष से बाहर करने का  आरोप लगाया। इसकी शिकायत प्रेक्षक से भी की।

अब तक कुल दस ने भरे पर्चे

निर्वाचन अधिकारी व इगलास एसडीएम अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि कुल 10 लोगों ने पर्चे भरे हैं। अंतिम  दिन नामांकन करने वालों में  ब्रज पार्टी के दायूदयाल, पीस पार्टी के निरंजनलाल, स्वतंत्र जनता पार्टी के पुष्पेंद्र सिंह व लोकदल के मुकेश कुमार भी हैं। कांग्रेस के उमेश दिवाकर, बसपा के अभय कुमार उर्फ बंटी, राष्ट्रीय शोषित समाज पार्टी के हरीश धनगर व भारतीय भाईचारा पार्टी के विकास पहले ही नामांकन कर चुके हैं।

अधिकारियों पर लगाए आरोप

मंगलवार को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। तीन अक्टूबर को नाम वापस लिए जा सकेंगे। रालोद प्रत्याशी का बिना बी फार्म पर्चा नामांकन भरे जाने को लेकर काफी देर तक हंगामा हुआ। रालोद कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों पर तरह-तरह के आरोप लगाए।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021