जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : एनएसयूआइ के प्रदेश अध्यक्ष व इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि राजा महेंद्र प्रताप सिंह के प्रति भाजपा का आदर सम्मान एक धोखा है, वो कम्युनिस्ट थे। उनकी विचारधारा संघ के विपरीत थी। उन्होंने मथुरा से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को चुनाव में हराया था। किसानों के आंदोलन से ध्यान हटाने व पश्चिमी उत्तर प्रदेश के नाराज जाट समुदाय को मनाने के लिए भाजपा ने ये पैंतरा चला है।

उन्होंने शुक्रवार को एएमयू में भ्रमण किया। इसके बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विनोद पांडेय के रसलगंज स्थित कैंप कार्यालय पर मीडिया से बातचीत में उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार पर तंज कसा। बोले, कृषि कानूनों में बदलाव को लेकर चल रहे आंदोलन से ध्यान भटकाने के लिए राजा महेंद्र प्रताप की भाजपा जय-जय कार कर रही है। उन्हें जाट नेता के तौर पर पेश कर उनकी लोकप्रियता को समेटने का काम किया है। राजा साहब तो सर्वसमाज के आदर्श नेता हैं। उन्होंने विश्वविद्यालय निर्माण के निर्णय पर योगी सरकार का आभार व्यक्त किया। साथ ही कहा कि सरकार चाह कर भी लाखों सरकारी रिक्त पदों पर नियुक्तियां नहीं कर रही है। बेरोजगारी व अन्य मांगों को लेकर प्रदेश के छात्र अक्टूबर में विधानसभा का घेराव करेंगे। इस सिलसिले में वे विश्वविद्यालयों का भ्रमण कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि विधानसभा घेराव कार्यक्रम को इतना सफल बनाया जाएगा कि प्रदेश सरकार की चूलें हिल जाएंगी। अब तक कई विश्वविद्यालयों का दौरा कर छात्रों से संपर्क कर चुके हैं। छात्रों ने विधानसभा के घेराव में शामिल होने का आश्वासन दिया है। विधानसभा भवन पर छात्रों की इतनी भीड़ जुटेगी कि सरकार को संभालना मुश्किल हो जाएगा। उनका विनोद पांडेय, मनोज सक्सेना, आनंद पाल सिंह, चौ. ब्रजराज सिंह राना, एमएल पापा, शुभम सिंह, एएमयू छात्र नेता अनस अहमद, आजम खान, नीरज सक्सेना ने स्वागत किया।

Edited By: Jagran