हाथरस, जेएनएन । उपभोक्ताओं को 24 घंटे बिजली देेने की तैयारियों की बारिश में पोल खुल गई है। जर्जर लाइनों के कारण फाल्ट बढ़ गए हैं वहीं सब स्टेशन पर ब्रेक डाउन हो रहे हैं। इससे कई घंटे बिजली गायब हो रही है। वैसे देखा जाए तो ये हालात भीषण गर्मी के दिनों से ही चल रहे हैं।

गर्मी में ही निर्बाध आपूर्ति के दिए गए थे निर्देश

मुख्यमंत्री ने उपभोक्ताओं को शेडयूल के हिसाब से शहर, कस्बे और देहात के उपभोक्ताओं को निर्बाध आपूर्ति देने के निर्देश दिए थे। इसके लिए अभियंताओं को पूरी तैयारी करने के निर्देश गर्मी के सीजन में ही दे दिए गए थे। इसी क्रम में दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक अमित किशोर ने जनपद के सादाबाद तहसील के जैतई और शहर के गिजरौली सब स्टेशन का मध्यरात्रि में औचक निरीक्षण किया था। उन्होंने सब स्टेशन पर सभी उपकरणों को दुरुस्त करने के साथ ट्रांसफार्मरों की क्षमता बढ़ाने और जर्जर लाइन बदलने के निर्देश दिए थे। इससे पहले ओसीबी में फाल्ट कम करने के लिए वीसीबी लगाने का काम शुरू किया गया था।

गर्मी में भी झेली दिक्कत : बिजली विभाग की इन तैयारियों के बावजूद गर्मी में शहर में 24 घंटे, कस्बों में 20 घंटे और देहात 16-18 घंटे बिजली नहीं मिली। ओवरलोडिंग के कारण फाल्ट भी इतने बढ़ गए थे कि उन्हें सही करने में काफी समय लग रहा था। इससे कटौती का समय भी बढ़ गया था।

बारिश में लोड कम होने से नहीं कम हुई दिक्कत

बारिश के दिनों में बिजली के उपक्रणों का कम प्रयोग होने के कारण शहर से लेकर देहात तक लोड कम हो जाता है। गांवों में नलकूप भी नहीं चलते हैं। वहीं शहरों में एसी व कूलर का भी लोड कम हो जाता है। बावजूद इसके फाल्ट कम नहीं हुए। इसका नतीजा यह है कि लगातार ब्रेक डाउन हो रहे हैं। 33 केवी नवीपुर गिजरौली सब स्टेशन पर ब्रेक डाउन के कारण शनिवार को बिजली आपूर्ति बाधित रही। वहीं नगला अलगर्जी 100 केवीए ट्रासफार्मर क्षतिग्रस्त होने के कारण बदलना पड़ा। इस कारण कई घंटे बिजली आपूर्ति बाधित रही।

Edited By: Anil Kushwaha