अलीगढ़ : गुरुग्राम से अलीगढ़ तक सवारियां छोड़ने आए ओला कंपनी के चालक को टोल का टैक्स बचाने का झांसे देकर सवारी बनकर बैठे बदमाश नशीला पदार्थ सुंघाकर कार लेकर भाग गए। इस बीच दौरऊ-चांदपुर के पास सड़क निर्माण व कच्चे रास्ते के चलते कार फंस गई तो उसे छोड़कर भाग गए। इधर, चालक का मोबाइल व कागजात को कोई पार कर ले गया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। गुरुग्राम (हरियाणा) के अलवर रोड रानी बाग निवासी नसीम ओला कंपनी पर चालक हैं। मंगलवार को नसीम अलीगढ़ की दो सवारियों को बुकिग पर छोड़ने आया था। अलीगढ़ से सुनील नामक युवक ने नोयडा के लिए कार को बुक किया। दोनों सवारियों को गांधीपार्क बस स्टैंड से लेकर नसीम नोयडा के लिए चल पड़ा। रास्ते में सवारियों ने नसीम से दोस्ती गांठ ली। इस बीच झांसा देकर टोल टैक्स बचाने को कहा। फिर गभाना क्षेत्र में एक ढाबे पर खाना खाने रुक गए। यहां खाना खाने व नशीली कोल्ड ड्रिक पीने के बाद चालक नसीम बेहोश हो गया। इस बीच सवारी बनकर बैठे बदमाशों ने पिछली सीट पर लिटा दिया। कार को लेकर बदमाश दौरऊ-चांदपुर के रास्ते से जा रहे थे। यहां रास्ता कच्चा पड़ा हुआ है। बारिश के चलते कार उसमें फंस गई। काफी प्रयासों के बाद भी कार न निकली तो बदमाश छोड़कर भाग गए। बुधवार सुबह ग्रामीणों ने कार लावारिस और चालक बेहोश पड़ा देखा तो पुलिस को खबर दे दी। इंस्पेक्टर सुरजन सिंह ने बताया कि चालक का मेडिकल परीक्षण कराया गया है। उसका मोबाइल फोन व गाड़ी के कागज भी गायब हैं। इस संबंध में ओला कंपनी में कार बुकिग कराने वाले मोबाइल नंबर को सर्विलांस पर लगाया गया है, जल्द बदमाशों को पकड़ा जाएगा।

Edited By: Jagran