अलीगढ़, जेएनएन। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द शुक्रवार को 'प्रेसिडेंशियल स्पेशल ट्रेन' से अलीगढ़ से कानपुर के लिए रवाना होंगे। दिल्ली से कानपुर आगमन को लेकर हावड़ा-दिल्ली रेलवे ट्रैक पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। देर रात तक सुरक्षा एजेंसियां रेलवे ट्रैक व स्टेशन के आस-पास सुरक्षा व्यवस्था जायजा लेती रहीं। गुरुवार को शताब्दी एक्सप्रेस के जरिए अंतिम रिहर्सल किया गया। इस दौरान पूरे ट्रैक पर हाई अलर्ट के चलते चिह्नित प्वाइंट पर अधिकारी व कर्मचारी ड्यूटी पर मुस्तैद रहे।

सात जोन व 14 सेक्‍टर में रहेगा सुरक्षा दायरा

गुरुवार को दिल्ली से लखनऊ जाने पर स्वर्ण शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के जरिए अंतिम रिहर्सल के साथ सुरक्षा व्यवस्था को परखा गया। इस दौरान 60 प्वाइंट पर पुलिस फोर्स के अलावा संबंधित जाेनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट ड्यूटी पर मुस्तैद रहे। सुबह अपने निर्धारित समय 7:50 बजे अलीगढ़ स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या दो पर पहुंची तो यहां तैनात सुरक्षा कर्मियों ने उसे अपने सुरक्षा घेरे में ले लिया। यह देख ट्रेन में सवार होने व उतरने वाले यात्री किसी अनहोनी की आशंका में चिंतित नजर आए। सोमना से लेकर मडराक रेलवे स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक को सुरक्षा की दृष्टि से सात जोन व 14 सेक्टर में बांटा गया है। जिले के आठ थाना क्षेत्रों में 60 प्वाइंट निर्धारित किए गए हैं। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत के अनुसार यहां सात सीओ, 14 इंस्पेक्टर, 62 दारोगा, 200 सिपाही की तैनाती की गई है। इलाके भर के सभी फ्लाई ओवर, अंडरपास, रेलवे क्रासिंग व छोटे-बडे़ स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए मजिस्ट्रेट ड्यूटी के अलावा अतिरिक्त पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है। पुलिस फोर्स, जोनल, सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती के साथ ही विभिन्न सुरक्षा एजेंसियां मुस्तैद रहेंगी। सोमना, कुलवा, महरावल, अलीगढ़, दाऊद खां, मडराक स्टेशन पर सेफ हाउस तैयार करने के साथ ही दमकल भी मुस्तैद रहेगी। गभाना थाना क्षेत्र को नील गाय व जंगली जानवरों के मूवमेंट के चलते संवेदनशील श्रेणी में रखा गया है।

पहली बार अलीगढ़ से निकलेगी ट्रेन

रेलवे के इतिहास में यह पहला अवसर है जब राष्ट्रपति की स्पेशल ट्रेन अलीगढ़ से गुजरेगी। देश मे पूर्व राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम के करीब 15 साल बाद कोई राष्ट्रपति ट्रेन से सफर कर रहे हैं।

रेलवे ट्रैक की निगहबानी

वीआईपी मूवमेंट को लेकर रेलवे ट्रैक पर हाईअलर्ट घोषित किया गया है। इसको लेकर सुरक्षा एजेंसियां चप्पे-चप्पे पर नजर रख रही हैं। दिल्ली-हावड़ा रेलवे ट्रैक की सुरक्षा व्यवस्था और भी कड़ी कर दी गई है। सुरक्षा के हर बिंदु पर गहनता से जांच-पड़ताल की जा रही है। रेलवे ट्रैक की निगहबानी की जा रही है। ट्रेन को सकुशल गुजारने के लिए पिछले कई दिनों से रेलवे अफसरों की सांसे अटकी हुई हैं। रेलवे की अलग-अलग टीमें तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटी हुई हैं। सुरक्षा में कोई चूक न हो, इसकी तैयारी भी परखी जा रही है। शहर की गतिविधियों पर आरपीएफ, जीआरपी, एलआइयू, बीडीएस, एटीएस समेत तमाम खुफिया एजेंसियों की पैनी नजर है।

होटल-ढाबों व संदिग्धों की चेकिंग

राष्ठ्रपति के दौरे को लेकर पुलिस ने देर शाम शहर के बस स्टैंड, होटल,ढाबों के अलावा रेलवे स्टेशन व रेलवे ट्रैक संदिग्धों की जांच -पड़ताल की गई। हालांकि इस दौरान कोई भी संदिग्ध व्यक्ति या वस्तु बरामद नहीं हुई। सुरक्षा कारणों के चलते राष्ट्रपति के दौरे का मिनट टू मिनट कार्यक्रम जारी नहीं किया गया है। संभावना है कि स्पेशल ट्रेन अलीगढ़ स्टेशन से दोपहर करीब ढाई बजे कानपुर रवाना होगी।