जेएनएन, अलीगढ़ : पराली जलाने में 35 किसान चिह्नित किए गए हैं। इनमें 27 किसान खैर तहसील क्षेत्र के हैं। तहसील स्तर पर इनके खेतों की पैमाइश पर जुर्माने की कार्रवाई की जा चुकी है।  अब मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है। इसी संबंध में जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह ने आज देर शाम एसडीएम, तहसीलदार व कृषि अधिकारियों की बैठक बुलाई है। 

पहले भी हो चुकी कार्रवाई

पूरे देश में जहां प्रदूषण केे लिए सबसे जिम्‍मेदार कारकों में से एक पराली को जलाने से रोका जा रहा है वहीं अलीगढ़ शहर के किसान पराली जलाने से बाज नहीं आ रहे हैं। पूरे शहर में हर रोज कहीं न कहीं पराली जलाने की घटना सामने आ रही हैं। हाल ही में पराली जलाने पर पूरे प्रदेश में 178 किसानों पर मुकदमा दर्ज हो चुका है। साथ में मथुरा में भी दो लेखपालों को  निलंबित भी किया गया है।

बढ़ाई जाएगी सख्‍ती

वायू प्रदूषण पर सुप्रीम कार्ट की सख्‍ती के बाद अब सरकार पराली जलाने वालों पर सख्‍ती करने जा रही है। प्रदेश मेें पराली जलाने पर रोक केे बावजूद इसका असर दिख रहा है। डीएम के साथ पुलिस कप्‍तान को भी पराली जलाने वालों पर सख्‍त कारवाई के लिए कहा है साथ ही प्रमुख सचिव एसपी गोयल ने कमिश्‍नर, डीएम व एसपी को इस मामलेे में सख्‍त कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। वैसे तो पराली जलाने की ज्‍यादा खबरें खैर क्षेत्र में हो रही हैं। इसीलिए डीएम के साथ ही सभी अधिकारियो की नजर इस क्षेत्र में ज्‍यादा है। इस मामले में खैर के 27 किसानों को चिन्‍हित भी किया गया है। अगर किसी ने पराली जलाई तो उस पर सख्‍त कार्रवाई की जाएगी। 

Posted By: Mukesh Chaturvedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप