अलीगढ़, जेएनएन। क्वार्सी की प्रोफेसर कालोनी में शनिवार रात ईंट भट्ठा कारोबारी दिलीप अग्रवाल के घर से हुई लाखों की चोरी की वारदात में शक करीबियों पर गहरा रहा है। पुलिस इसकी जांच में जुटी है और चोरों की तलाश में जुट गई है। इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुुटेज भी खंगाली जा रही है।

पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर चोरों ने फैलायी दहशत

पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर स्थित प्रोफेेसर कालोनी निवासी दिलीप अग्रवाल ईंट भट्ठा कारोबारी हैं। अकराबाद क्षेत्र के कौडियागंज में उनका एनडी ब्रिक्स के नाम से ईंट उद्योग है। कारोबारी पत्नी ममता अग्रवाल के साथ शुक्रवार को मेंहदीपुर बालाजी के दर्शन को गए हुए थे। घर में बेटा काव्य व बेटी आशी ही थे। शनिवार शाम दोनों बहन-भाई रामघाट रोड के राज अपार्टमेंट स्थित मामा के फ्लैट में चले गए। रात में दोनों वहीं रुक गए। रविवार दोपहर दोनों वहां से जैसे ही घर पहुंचे गेट के ताले टूटे पड़े हुए थे। कमरों के तालों के अलावा सेफ के ताले टूटे पड़े होने के साथ ही सारा सामान भी अस्त-व्यस्त हालात में पड़ा हुआ था। यह देख दोनों के होश उड़ गए। देर रात कारोबारी भी अलीगढ़ आ गए। उन्होंने बताया कि चोर घर से करीब पांच लाख की नकदी, 30 लाख कीमत के जेवरात चोरी कर ले गए हैं।

पिस्टल-मैग्जीन छोड़ गए, डीवीआर निकाल ले गए

कारोबारी के घर चोरी की घटना को अंजाम देने वाले चोर बेहद शातिर थे। चोरों का मकसद घर में रखी नकदी व कीमती जेवरात व सामान को ले जाना ही था। इससे साफ है कि चोर पेशेवर थे। चोरों ने अलमारी में रखी लाइसेेंसी पिस्टल व मैग्जीन को हाथ तक नहीं लगाया है जो सुरक्षित रखी हुई मिली है। चोरों की हरकत घर में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में कैद न हो गए हों इस आशंका में चोर अपने साथ कैमरे की डीवीआर तक निकालकर ले गए हैं।

करीबियों पर शक

कारोबारी के घर से हुई चोरी में किसी करीबी के हाथ होने की संभावना पर पुलिस जांच कर रही है। पुलिस घर के आस-पास के अलावा इलाके भर में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। हालांकि पुलिस को देर रात तक सफलता नहीं मिल सकी थी।

इनका कहना है

कारोबारी के घर हुई चोरी की घटना के जल्द राजफाश के लिए दो टीमें गठित की गई हैं। चोरों की तलाश में सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। कुछ संदिग्धों से भी पूछताछ की गई है, जल्द चोरों को पकड़ा जाएगा।

- कुलदीप सिंह गुनावत, एसपी सिटी

Edited By: Anil Kushwaha