अलीगढ़, जेएनएन। बढ़ती महंगाई के बीच पेट्रोल व डीजल को लेकर राहत भरी खबर है। उत्पाद शुल्क घटने से पेट्रोल व डीजल के दाम में गिरावट आई है। पेट्रोल 9.50 रुपये प्रति लीटर तथा डीजल 7 रुपये प्रतिलीटर सस्ता हो गया है। शनिवार को शहर में पेट्रोल व डीजल के नए दाम लागू नहीं किए गए यह रविवार से लागू होंगे। अभी तक पेट्रोल 96.73 रुपये तथा डीजल 89.88 रुपये प्रतिलीटर बिक रहा था।

22 मार्च से शुरू हुआ था महंगा होना

22 मार्च से पेट्रोल व डीजल के दामों में वृद्धि होना शुरू हुई। प्रतिदिन इनमें वृद्धि होती गई। छह अप्रैल पेट्रोल 105.41 रुपये तथा डीजल 96.95 रुपये प्रति लीटर पहुंच गया। तब से अब तक 21 मई तक यही स्थिति बनी हुई थी। पेट्रोल व डीजल के दामों में लगातार वृद्धि से वाहन स्वामी परेशान थे। पेट्रोल व डीजल के दामों को लेकर प्रदर्शन भी होने लगे थे। अब उत्पाद शुल्क घटने के बाद इनके दामों में एक बार कमी आ गई है। रामघाट रोड स्‍थित उमा ओटोबाइल्‍स के संचालक मोहित माहेश्‍वरी ने बताया कि पेट्रोलियम कंपनियां सुबह छह बजे तक पेट्रोल व डीजल के दाम निर्धारित करती है। यह आटोमेटिक पेट्रोल पंपों पर लगी मशीनों पर आ जाते हैं। उत्पाद शुल्क घटने से पेट्रोल व डीजल के दामों में कमी की जानकारी मिली है। उन्होंने कहा कि अचानक पेट्रोल व डीजल के दामों मेें अधिक कमी करने से पेट्रोल पंपों पर स्टाक रहने से डीलर्स को नुकसान उठाना पड़ता है। जिस तरह पेट्रोल व डीजल के दाम धीरे-धीरे बढ़ाए जाते हैं, उसी तरह घटाना भी चाहिए।

आज इस भाव बिक रहा पेट्रोल व डीजल

-पेट्रोल 96.73 तथा डीजल 89.88 रुपये प्रतिलीटर पहुंच गया था

-उत्पाद शुल्क घटने से पिछले वर्ष नवंबर में भी पेट्रोल व डीजल के दामों में गिरावट आई थी।

पिछले वर्ष नवंबर में भी कम हुए थे दाम

पिछले वर्ष 3 नवंबर को पेट्रोल 106.64 रुपये प्रतिलीटर तथा डीजल 98.62 रुपये प्रतिलीटर था। 4 नवंबर को इनके दामों में कमी आई थी। 4 नवंबर को पेट्रोल 100.74 रुपये तथा डीजल 86.80 रुपये प्रतिलीटर हो गया। 5 नवंबर को इनके दामों में और कमी आई। पेट्रोल 94.98 रुपये तथा डीजल 86.52 रुपये प्रतिलीटर पहुंच गया। इस वर्ष 22 नवंबर को इनके दामों में वृद्धि होना शुरू हुई थी।

रूस- यूक्रेन युद्ध से बढ़ रही महंगाई

उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में रुस-यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद से जमाखोरी भी बढ़ रही है। पिछले एक महीने में 14 बार पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्‍तरी हुई है। खाद्य तेल की कोई किल्लत नहीं है। बावजूद इसके रिफाइंड आयल की कीमत में 20 से 25 रुपये लीटर का इजाफा हुआ है। हालांकि सरकार की ओर से शनिवार को उत्‍पाद शुल्‍क घटने से पेट्रोल व डीजल के दाम घट गए हैं। ऐसे में खाद्य सामग्री के दामों में भी गिरावट होने की आस है।

अब तक कितना बढ़ा रेट

22 मार्च से अब तक पेट्रोल का दाम 10.5 रुपये बढ़ चुका है और डीजल के रेट में तब से अब तक 10.35 रुपये की वृद्धि हुई है। फुटकर में पेट्रोल-डीजल का रेट 22 मार्च से बढ़ना शुरू हुआ था। हालांकि शनिवार की रात से इनके दामों में कमी आयी है। रविवार से नए रेट पर पेट्रोल व डीजल दिए जाएंगे। रविवार को को पेट्रोल - 96.73 रुपये प्रति लीटर और डीजल - 89.88 रुपये प्रति लीटर के भाव रहा।

22 मई को डीजल पेट्रोल के रेट

पेट्रोल - 96.73 रुपये प्रति लीटर

डीजल - 89.88 रुपये प्रति लीटर

सीएनजी के दाम अभी स्‍थिर

26 अप्रैल को सीएनजी पर एक रुपये बढ़े थे। बढ़ोत्‍तरी के बाद के दाम 87 रुपये किलाेे हो गए थे। तब सेे दाम स्‍थिर हैं। दिल्‍ली व एनसीआर में दाम बढ़े हैं तो अलीगढ़ में भी कीमत बढ़ने की संभावना है।

कब कब कितना बढ़ा सीएनजी का रेट

माह, रेट

01 अक्टूबर, 69.50

20 अक्टूबर, 70.20

30 अक्टूबर, 71.75

01 नबंवर, 71.75

15 नवंबर, 76.00

23 नवंबर, 77.00

01 दिसंबर, 79.00

01 जनवरी, 79.00

01 फरवरी, 79.40

01 मार्च, 79.00

01 अप्रैल, 85

16 अप्रैल को एक रुपये बढ़कर 86 रुपये हो गए।

26 अप्रैल को एक रुपये बढ़कर 87 रुपये हो गए।

26 अप्रैल से 15 मई तक 87 रुपये किलो् है।

(दाम रुपये प्रतिकिलो)

Edited By: Anil Kushwaha