अलीगढ़ : पिसावा क्षेत्र में पिसावा-चंडौस मार्ग पर गांव दरगवां के पास गुरुवार को दिनदहाड़े चंडौस के किराना व्यापारी से एक लाख 60 हजार रुपये की लूट हो गई। दो बाइकों पर आए चार बदमाशों ने व्यापारी को रोककर तमंचा तान दिया। इसके बाद रुपयों से भरा बैग लेकर फरार हो गए। मोबाइल व स्कूटी की चाबी कुछ दूरी पर फेंक दी। घटना के बाद व्यापारी घर पहुंचा। रास्ते में पुलिस भी मिली। लेकिन, व्यापारी ने कुछ नहीं बताया। करीब 40 मिनट बाद थाने आकर जानकारी दी। पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है।

चंडौस निवासी व्यापारी सचिन अग्रवाल आसपास के क्षेत्रों में परचून के सामान की सप्लाई करते हैं। गुरुवार को पिसावा के दुकानदारों से रुपये लेकर स्कूटी से चंडौस लौट रहे थे। दोपहर में करीब साढ़े तीन बजे दरगवां गांव स्थित सत्संग भवन के पास पिसावा की तरफ से दो अपाचे बाइकों पर आए चार बदमाशों ने उनकी स्कूटी के सामने बाइक लगाते हुए चाबी व मोबाइल छीन लिया। एक युवक ने कनपटी पर तमंचा लगाकर जेब में रखी नकदी निकाल ली। इसके बाद डिग्गी में रखा रुपयों से भरा बैग निकाला। शोर मचाने पर व्यापारी को धमकी देते हुए पिसावा की तरफ भाग गए। चारों बदमाश हेलमेट पहने हुए थे। बदमाश कुछ दूरी पर ही मोबाइल व स्कूटी की चाबी को भी फेंक गए।

इस घटना ने पुलिस की मुस्तैदी की भी पोल खोल दी। आचार संहिता लागू होने के चलते पुलिस इन दिनों अलर्ट है, लेकिन बदमाशों ने बेखौफ होकर घटना को अंजाम दिया। घटनास्थल से एक किमी दूर भी पुलिस गश्त पर थी। लेकिन, सहमे हुए व्यापारी ने चाबी व मोबाइल उठाया और घटना की जानकारी पुलिस को नहीं दी। बल्कि सीधे घर पहुंच गए। साढ़े चार बजे पिसावा के व्यापारियों को साथ लेकर थाने आकर तहरीर दी। आक्रोशित व्यापारियों ने पुलिस से बदमाशों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले हैं। एसओ नारायण दत्त तिवारी ने बताया कि गांव सबलपुर के पास पुलिस तैनात थी। कस्बा में भी पुलिस मौजूद थी। अगर घटना के तुरंत जानकारी मिल जाती तो बदमाशों को आसानी से पकड़ा जा सकता था। बदमाशों की तलाश की जा रही है।

Edited By: Jagran