अलीगढ़, जागरण संवाददाता। पर्यावरण संरक्षण के चलते उत्तर मध्य रेलवे ने सौर ऊर्जा की दिशा में अपने कदम तेज़ कर दिए हैं। इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में उत्तर मध्य रेलवे ने 67 लाख बिजली के यूनिट का उत्पादन किया जिससे 2.73 करोड़ के राजस्व की बचत तो हुई ही। साथ ही साथ 5700 टन कार्बन उत्सर्जन का भी ह्रास हुआ, जो कि पर्यावरण संरक्षण की दिशा में महत्त्वपूर्ण उपलब्धि है। यह जानकारी उत्‍तर मध्‍य रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी डा. शिवम शर्मा ने रविवार को पत्रकारों को दी।

अलीगढ़ ने निभाई अहम भूमिका

जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि पिछले साल की इसी अवधि में उत्तर मध्य रेलवे द्वारा 60 लाख यूनिट का उत्पादन किया गया था। उत्तर मध्य रेलवे ने कुल 11.03 मेघावाट पीक की क्षमता के सोलर प्लांट विभिन्न स्टेशनों पर लगाये हैं जिनकी नियमित तौर पर सघन रख रखाव किया जाता है। इसी क्रम में अलीगढ़ रेलवे परिसर में 182 किलोवाट पीक की क्षमता के सोलर प्लांट स्टेशन की छत, प्लेटफार्म, आफिस एवं रनिंग रूम की छत पर लगाये गए हैं जो कि मार्च 2018 से कार्यरत हैं। अप्रैल से सितंबर तक कि अवधि में अलीगढ़ स्टेशन सोलर प्लांट द्वारा 120083 बीजली के यूनिट का उत्पादन कर 374657 के राजस्व की बचत की है। गौरतलब है कि 101 टन कार्बन उत्सर्जन का ह्रास इसके इस्तेमाल से हुआ है। अलीगढ़ सोलर प्लांट का प्रदर्शन पिछले साल की तुलना से इस साल लगभग दोगुना रहा। पिछले साल की इसी अवधि में 61133 यूनिट का उत्पादन हुआ था, और 51 टन कार्बन एमिशन कट हुआ था। अलीगढ़ सोलर प्लांट का capacity utilization factor(CUF) 15% है, जो कि उत्तर मध्य रेलवे के कई अन्य प्लांट की तुलना में कहीं ज़्यादा है। 14% से ज़्यादा के CUF वाले सोलर प्लांट को high performing solar plant की श्रेणी में एनसीआर द्वारा रखा जाता है।

पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध

सोलर प्लांट के रख रखाव का उसकी उत्पादन क्षमता में अहम योगदान रहता है इसीलिए प्रशासन द्वारा इसकी दैनिक मोनोटरिंग 'प्लांट कम इन्वर्टर बेसिस' पर की जा रही है। स्टाफ द्वारा इसकी साफ सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाता है, साथ ही किसीभी तरह का अवरोध सोलर पैनल और सूर्य की किरणों के बीच न आये यह सुनिश्चित करने के लिए समय समय पर आस पास के पेड़ों की ट्रिमिंग की जाती है। वर्ष 2021-22 में NCR सोलर मिशन के अंतर्गत उत्तर मध्य रेलवे ने 1.3 करोड़ यूनिट के उत्पादन का लक्ष्य रखा है जिससे 5 करोड़ के राजस्व की बचत होगी । उत्तर मध्य रेलवे पर्यावरण संरक्षण के प्रति प्रतिबद्ध है और इसी क्रम में भविष्य में सौर ऊर्जा के और अधिक प्लांट लगाए जाएंगे । इस दौरान सीएमआई संजय शुक्‍ला भी मौजूद थे।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena