अलीगढ़, जागरण संवाददाता। ammonia gas leak उत्‍तर प्रदेश के जनपद अलीगढ़ में दो साल से मीट फैक्‍ट्रियों का निरीक्षण नहीं हुआ है। यह बात हादसे के बाद सामने आई है। मीट फैक्ट्री  समेत अन्य फैक्ट्रियों का निरीक्षण कोविड काल से नहीं हो रहा। हादसे के बाद यह जानकारी भी सामने आई है।

पाइप लाइन फटने से हुआ हादसा

डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि फैक्ट्री की जांच का जिम्मा डायरेक्ट्रेट आफ फैक्ट्री के ज्वाइंट डायरेक्टर वीरेंद्र कुमार का है। कोविड के बाद से इन्होंने किसी भी फैक्ट्री का निरीक्षण नहीं किया। इसके पीछे शासन द्वारा कोविड के समय से रोक लगाने की बात कही है। इसकी पूरी जानकारी की जा रही है। घटना की जांच के लिए दो सदस्यीय टीम गठित की है। हादसा पाइप लाइन फटने से हुआ है। फैक्ट्री पंजीकृत एक्सपोर्ट यूनिट है। मीट विदेशों में भी जाता है। अलीगढ़ में मीट की नौ बड़ी फैक्ट्री हैं। जहां से मीट विदेशों में जाता है।

पहले भी हुए  meat factories में हादसे

हाजी जहीर की तालसपुर स्थित अलदुआ मीट फैक्ट्री के अलावा बन्ना देवी क्षेत्र में ऊदला गांव के पास भी मीट फैक्ट्री है। वहां भी एक हादसे में मजदूर की मौत हो गई थी। हाजी जहीर बसपा से जुड़ा रहा है। हालांकि अभी कोई पद नहीं है। हाजी जहीर अलीगढ़ के आयकर आधा करने की टाप फाइव में शामिल हैं। विभाग की ओर से इन्हें पिछले वित्त वर्ष में आयकर दाता रत्न से सम्मानित किया गया था। इनके बसपा, सपा के कई कद्दावर नेताओं से घरेलू संबंध रहे हैं।

खतरा बनीं मीट फैक्ट्रियां: सैफी

अलीगढ़। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष इमरान सैफी ने कहा कि मीट फैक्ट्रियां  meat factories खतरा बनी हुई हैं। अल-दुआ मीट फैक्ट्री में हुआ हादसा लापरवाही का परिणाम है। हादसे के लिए फैक्ट्री संचालक के अलावा प्रशासन भी दोषी है। ऐसी फैक्ट्रियां बंद होनी चाहिए, जो प्रशासनिक सांठगांठ से चल रही हैं। फैक्ट्री मालिक को पुलिस जल्द गिरफ्तार करे। जेएन मेडिकल कालेज पहुंचे नेता अल दुआ मीट फैक्ट्री मैं लीक होने व गंभीरों को मेडिकल कालेज में भर्ती कराने की सूचना पर बसपा, सपा व कांग्रेस के नेता मजदूरों का हाल जानने के लिए जेएन मेडिल कालेज पहुंचे।

बसपा नेताओं ने जाना लोगों का हाल

बसपा से अलीगढ़, आगरा व बरेली मंडल प्रभारी सूरज सिंह, अलीगढ़ मंडल प्रभारी अशोक सिंहा व विजेंद्र सिंह विक्रम, जिलाध्यक्ष हरजीत सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष रतन दीप सिंह , सदस्य जिला पंचायत फारुख अहमद, संतोष राव, मानवेंद्र सिंह मोंटू विधानसभा अध्यक्ष कोमल चौधरी, सुबोध सिद्धार्थ , रविंद्र बौद्ध आदि ने गैस के रिसाव से गंभीर लोगों का हाल जाना।

सुरक्षा को लेकर कांग्रेसियों ने जताया संदेह

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ठा. संतोष सिंह ने कहा कि भोपाल गैस कांड जैसा हादसा होने से बच गया। मेडिकल कालेज पहुंचे गौरांगदेव चौहान ने कहा कि एक एक बैड पर पांच-पांच मरीजों को रखा गया था। मोहम्मद रेहान, आकाश मसीह, अनु ठाकुर, साहिल खान, अखिलेश शर्मा, असद फारुख आदि भी साथ थे। कांग्रेस नेता आगा युनुस ने कहा कि मीट फैक्ट्री में हुए हादसे ने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर संदेह प्रकट किया है। सपा नेता सलमान शाहिद भी अपने समर्थकों के साथ मेडिकल कालेज पहुंचे।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट