हाथरस, जागरण संवाददाता। हर कोई अपनी सेहत को लेकर सतर्क है। कोविड में तो यह बहुत जरूरी हो गई है। ऐसे में सुबह का टहलना और अभ्‍यास करना जरूरी है। ऐसे में लोगों के लिए मेंडू नगर पंचायत का पार्क खुशियों की सौगात लेकर आया है। यहां सुबह व शाम जिम की बेहतर सुविधा लोगों के लिए निश्शुल्क दी जा रही है।

नगर पंचायत मेंडू का पार्क अब क्षेत्रीय लोगों के लिए स्वास्थ्य के साथ फिटनेस बनाए रखने के लिए उपयुक्त स्थान बन गया है। यहां पर कस्बा में फिटनेस के लिए युवाओं के चक्कर लगाने पड़ते थे। नगर पंचायत क्षेत्र में इसकी बहुत जरूरत महसूस की जा रही थी। अधिशासी अधिकारी नरेश कुमार ने चार्ज ग्रहण करने के बाद से ही पंचायत क्षेत्र के लोगों को सुविधाएं देने के लिए प्लानिंग शुरू कर दी। इसी के तहत उन्होंने नगर पंचायत कार्यालय के सामने स्थित पार्क का सुंदरीकरण कराते हुए उसे एक रमणीक स्थान के रूप में विकसित किया।

12 लाख से उपलब्ध कराई जिम की सुविधाए

नगर पंचायत कार्यालय के सामने बने पार्क में ईओ द्वारा जिम की सुविधाएं उपलब्ध कराईं। इसमें उन्होंने फिट इंडिया मूवमेंट के तहत करीब 12 लाख रुपये की धनराशि से 20 से अधिक उपकरण लगवाए। इनमें क्रास ट्रेनर, रोवर, सीटअप बोर्ड, स्काई वाकर, साइकिल, एअर वाकर सहित कई यंत्र उपलब्ध हैं। इनके लगने से यह एक खुले में शुद्ध वातावरण के बीच लोगों के लिए जिम की सुविधा निश्शुल्क मिलने लगी।

दिन में छह घंटे निश्शुल्क मिल रही सुविधा

नगर पंचायत का यह पार्क-कम-जिम के बनने से उन एेसे युवाओं को अधिक लाभ हुआ जो महंगा शुल्क देकर जिम जाने में असमर्थ थे। जिम की यहां सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। ईओ नरेश कुमार ने बताया कि यह निश्शुल्क सुविधा लोगों के लिए सुबह व शाम के समय तीन-तीन घंटे के लिए उपलब्ध हैं। सुरक्षा के लिए यहां पर चौकीदार की व्यवस्था की गई है। बिना भेदभाव के यहां कोई भी आ जा सकता है।

इनका कहना है

नगर में पार्क की जरूरत काफी दिनों से महसूस की जा रही थी। घूमने फिरने के लिए तो लोग कहीं भी जा सकते थे। शरीर काे फिट रखने के लिए कोई पार्क नगर में नहीं था। अब नगर वासियों की यह इच्छा नगर पंचायत के पार्क में पूरी हो गई है।

- रोकेंद्र सारस्वत, निवासी

कोविड के चलते स्वस्थ्य रहने बहुत जरूरी हो गया है। इसके लिए घूमना फिरना भी दिनचर्या में शामिल हो गया है। ऐसे में नगर पंचायत प्रशासन ने पार्क में विकसित कर यहां पर जिम की सुविधाएं लोगों को निश्शुल्क देकर एक सराहनीय कार्य किया है।

- चेतन उपाध्याय उर्फ बब्बी पंडित, निवासी

Edited By: Anil Kushwaha