जासं, अलीगढ़ : शराब माफिया ऋषि शर्मा अलीगढ़ में जवां स्थित अपने फार्म हाउस पर ही शराब बनवाता था। शराब बनाने का सामान दूसरे जिलों से मंगाता था, जबकि केमिकल हरदुआगंज में पकड़ी गई फैक्ट्री से लेता था। ऋषि के पकड़े जाने के बाद से पुलिस को 15 से ज्यादा छोटे-बड़े नाम ऐसे मिले हैं, जिनके यह संपर्क में था। इनमें ऋषि का सबसे तगड़ा कनेक्शन बुलंदशहर से था। छह-सात लोग पकड़े भी जा चुके हैं। सात-आठ लोग अभी पुलिस के रडार पर हैं।

शनिवार को पुलिस कस्टडी रिमांड के दूसरे दिन ऋषि शर्मा से पूछताछ जारी रही। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत व एसपी देहात शुभम पटेल ने अलग-अलग शिफ्टों में पूछताछ की। शराब की दुनिया में ऋषि की शुरुआत ही बुलंदशहर से हुई थी। 1998 में उसने बतौर सेल्समैन काम शुरू किया था तो बुलंदशहर से उसका गहरा नाता है। जो-जो लोग ऋषि से जुड़ते रहे, वे सभी अब तक संपर्क में हैं। ऋषि ने बुलंदशहर के कुछ नाम बताए हैं, जो उसे शराब बनाने व पैकिग का सामान उपलब्ध कराते थे। पूछताछ में ये भी पता चला है कि ऋषि जवां के सिकंदरपुर मार्ग स्थित अपने फार्म हाउस पर शराब बनवाता था। इसके लिए हरदुआगंज के फैक्ट्री मालिक विजेंद्र कपूर से केमिकल लेता था। जिले में भी कुछ ठिकाने हैं, जिनके बारे में पुलिस पता लगा रही है। हरियाणा के फरीदाबाद का 25 हजारी मदन भी ऋषि के संपर्क में था। सूत्रों के मुताबिक, मदन भी ऋषि को शराब सप्लाई करता था। पुलिस मदन की तलाश में जुटी है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि कुछ नाम ऋषि ने बताए हैं, जिन्हें सत्यापित किया जा रहा है। पूछताछ के आधार पर टीम कड़ियां जोड़ने में लगी हैं। हर छोटे से छोटे लिक पर काम किया जा रहा है। फिलहाल ऋषि से पूछताछ जारी है। जैसे-जैसे तथ्य सामने आएंगे, उसी आधार पर कार्रवाई होगी।

Edited By: Jagran