अलीगढ़, जेएनएन। शराब माफिया ऋषि शर्मा के तार सिर्फ अलीगढ़ ही नहीं, बल्कि गैर-जनपद से भी जुड़े हैं। ऋषि ने शुक्रवार को पुलिस कस्टडी रिमांड के दौरान पूछताछ में अपने चार और सहयोगियों के नाम बताए। जिनसे कच्चा माल खरीदता था। पुलिस उसके बताए नामों की तलाश में जुट गई है। हालांकि सहयोगी कौन से जिले के हैं? कौन हैं? क्या करते हैं? इस बारे में पुलिस गोपनीयता बरत रही है। सूत्रों का कहना है कि अलीगढ़ मंडल के जिलों के अलावा मेरठ जोन के माफिया भी ऋषि के संपर्क में थे।

आरोपित ऋषि के सहयोगियों की तलाश में जुटी पुलिस

शराब प्रकरण में मुख्य आरोपित ऋषि शर्मा का तीन दिन का पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर हुआ है। शुक्रवार सुबह 10 बजे से पुलिस लाइन में ही ऋषि से पूछताछ शुरू हुई। शराब से संबंधी जिन-जिन थानों में ऋषि के खिलाफ मुकदमा दर्ज है, वहां के विवेचकों ने ऋषि से सवाल किए। एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत ने भी ऋषि से लंबी पुछताछ की। एसपी सिटी ने बताया कि ऋषि के सहयोगियों के बारे में जानकारी की गई है। कुछ नाम बताए हैं। इनमें से चार आरोपितों को चिह्नित किया गया है। जो सीधे तौर से ऋषि के संपर्क में थे। संभावना है कि इन्हीं लोगों से ऋषि कच्चा माल मंगवाता था। उनकी तलाश में बताए गए जिलों में टीम भेजी जाएंगी। वहां की पुलिस का भी सहयोग लिया जाएगा। इसके अलावा जिले में माफिया का जाल किस तरीके से फैला हुआ था, इस बारे में कुछ सुराग मिले हैं, जिस पर टीमें काम कर रही हैं। पूछताछ जारी है।

मंडल के दो दर्जन लोग रडार पर

ऋषि की गिरफ्तारी के बाद प्राथमिक पूछताछ में ही मंडल के दो दर्जन लोग रडार पर आ गए थे। सूत्रों के मुताबिक, ऋषि के संपर्क मेरठ जोन के लोगों से भी हैं, जो अवैध कारोबार से जुड़े हैं। हालांकि पुलिस इस बारे में खुलकर कुछ नहीं बोल रही। हर तथ्य के सत्यापन के लिए टीमें लगी हुई हैं।