जासं, अलीगढ़ : केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) इंटरमीडिएट का रिजल्ट तीन दिन पहले जारी हो चुका है। अंकों को लेकर कई विद्यार्थियों में असंतोष की भावना भी रही। विद्यालयों ने आंतरिक मूल्यांकन व छमाही परीक्षाओं के अंकों को सीबीएसई के पास भेजा था। इसी के आधार पर सीबीएसई ने परिणाम जारी किया। अभी इंटर के सभी विद्यालयों के परिणाम जारी नहीं हुए हैं। इन सब चीजों को देखते हुए सीबीएसई हाईस्कूल के छात्र-छात्राओं की धड़कनें बढ़ गई हैं। जिले में सीबीएसई हाईस्कूल में 8699 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। इनकी परीक्षाएं कोरोना काल में निरस्त कर दी गई थीं। अब इनका परिणाम भी बोर्ड की ओर से इसी हफ्ते जारी किए जाने की संभावना है। छात्र-छात्राओं को अपने सफलता प्रतिशत को लेकर टेंशन है। सीबीएसई जिला कोआर्डिनेटर आरती निगम ने बताया कि अगर किसी विद्यार्थी को परिणाम के प्रति आशंका है तो वो परीक्षा दे सकता है। आधिकारिक पुष्टि तो नहीं है, लेकिन इसी हफ्ते परिणाम आ सकता है।

......

रिजल्ट की विसंगतियों को दूर करेगी यूपी बोर्ड की हेल्पडेस्क

जासं, अलीगढ़ : माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश (यूपी बोर्ड) ने हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का परिणाम जारी कर दिया है। मगर, जिले में परिणाम नहीं देखा जा सका। विद्यार्थियों की मेरिट तक नहीं दिखी। कई विद्यालयों के प्रधानाचार्यों ने बताया कि उनके छात्र-छात्राओं का परिणाम अटका आया है। प्रधानाचार्यों ने अफसरों के पास समस्या बताने के लिए फोन किए। इन समस्याओं को देखते हुए यूपी बोर्ड ने क्षेत्रीय कार्यालय मेरठ में प्रधानाचार्यों के लिए हेल्प डेस्क बना दी है। प्रधानाचार्य 0121-2660742 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। एक अगस्त से सुबह 10 से शाम पांच बजे तक प्रधानाचार्य अगर चाहें तो मेरठ कार्यालय जाकर भी समस्या बता सकते हैं। डीआइओएस डा. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि जो शिकायतें या समस्याएं उनके कार्यालय तक आएंगी, वो भी बोर्ड के पास अग्रसारित की जाएंगी। प्रधानाचार्य चाहें तो सीधे बोर्ड को अवगत करा सकते हैं।

Edited By: Jagran