हाथरस : हतीसा बाइपास पर हुई फाइनेंस कर्मी की हत्या व लूट में पुलिस चकरघिन्नी बनी है। लोकल गिरोह पर पूरा शिकंजा कसा जा रहा है। इसी क्रम में कोतवाली सदर पुलिस ने देर रात मुठभेड़ में तीन शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। इनसे सफेद रंग की अपाचे बाइक व हथियार बरामद किए हैं।

पकड़े गए युवकों से कोतवाली सदर व हाथरस गेट पुलिस ने पूछताछ की। दरअसल आगरा के फाइनेंस कर्मी की हत्या में 0.32 बोर की पिस्टल का इस्तेमाल हुआ है। पेट से इसी बोर की गोली निकली थी। कोतवाली पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़े गए युवकों से इसी बोर की पिस्टल बरामद की है। काफी पूछताछ व अन्य सबूतों के आधार पर साफ हुआ कि घटना करने वाला गिरोह कोई और है। सोमवार रात एसएचओ जसपाल ¨सह पंवार गश्त पर थे, जब उन्हे किला परिसर में अपाचे बाइक लेकर युवकों के बारे में जानकारी मिली। पुलिस को देख युवकों ने फाय¨रग कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने सुनील निवासी नगला चौबे, विष्णु निवासी बागला कॉलेज रोड, रेलवे फाटक के पास व फैजान निवासी नगला बेलनशाह को गिरफ्तार किया। इनसे पिस्टल व चाकू बरामद किया गया।

शहर कोतवाल के अनुसार तीनों किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। इनमें सुनील पूर्व में नशीला पदार्थ बेचने वाले ¨रकू के साथ अपहरण व हत्या में जेल जा चुका है। वर्ष 2016 में रोकेंद्र हत्याकांड में इसका नाम सामने आया था। इसके अलावा फैजान 2011 में मथुरा में हथियार तस्करी में पकड़ा जा चुका है। इसे इसके गिरोह के साथ चार पिस्टल व 85 कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया था। बरामद अपाचे बाइक की छानबीन की जा रही है।

Posted By: Jagran