अलीगढ़, जेएनएन । कोरोना महामारी के इस दौर में लोग भयभीत है। वहीं कुछ लोगों ने हवा में वायरस को खत्म करने के लिए वेदों से फार्मूला निकाला है। उनका मानना है कि आर्य समाज पद्यति से हवन यज्ञ किया जाए तो हवा से वायरस व बैक्टीरिया को नष्ट किया जा सकता है।

हमेशा से हवन पर दिया गया जोर

आर्य समाज मंदिर द्वारा हमेशा से हवन यज्ञ करने पर बल दिया जाता रहा है। इगलास नगर में आर्य समाज मंदिर से जुड़े कृष्णकांत सिंघल, प्रमोद तौमर, अनिल बंसल, योगेश अग्रवाल, रामस्वरु प राठौर, राजनारायण आर्य आदि द्वारा सप्ताह में एक दिन वातावरण की शुद्धि के लिए हवन यज्ञ किया जाता है। आर्य समाज मंदिर के प्रधान रामस्वरुप राठौर का कहना है कि हवन सामग्री में नीम की सूखी पत्ती, नीम गिलोय, कपूर, सूखी तुलसी आदि डालकर हवन करने से वातावरण शुद्ध होता है। हवन के धूए से घर से नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है। हवा बैक्टीरिया एवं वायरस मुक्त हो जाती है। प्रत्येक व्यक्ति यदि हवन करे तो वायरस को हवा से पूरी तरह खत्म किया जा सकता है। वहीं उन्होंने नगर के आर्य समाज मंदिर के दोनों भवनों को सरकार को आवश्यकता पडऩे पर कोविड मरीजों के लिए आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए देने की पहल भी की है।

Edited By: Anil Kushwaha