हाथरस, जागरण संवाददाता। हाथरस के सादाबाद में लगातार चौथी चोरी ने पुलिस की नींद उड़ा कर रख दी है। पूर्व फौजी, किसान, सेना के जवान के बाद अब चोरों द्वारा पुलिस के एक एएसआई के घर को खंगाल दिया है। लगातार होती चोरियों के कारण पुलिस हवा में हाथ पैर मार रही है।

मिर्जापुर में तैनात हैं उपनिरीक्षक पोखपाल सिंह

सेवानिवृत्त फौजी वर्तमान में उत्तर प्रदेश पुलिस के उपनिरीक्षक पोखपाल सिंह जोकि इस समय मिर्जापुर में तैनात हैं। ड्यूटी पर होने के कारण उनका परिवार पैतृक गांव झगरार में रह रहा है। सादाबाद के राधिका विहार कालोनी में उनके मकान में ताला पड़ा हुआ है। चोरों ने मकान में पड़े ताले का लाभ उठाते हुए अंदर के कमरों में लगे ताले के कुंदे को काटकर अलमारी व वक्सों को कुरेद ड़ाला। उपनिरीक्षक की पत्नी कालोनी में हुई फौजी के घर की चोरी की जानकारी मिलने पर उनके घर पर आई थी। वहां से वह अपने घर आ गई, जहां उनको घर के ताले टूटे हुए मिले। जानकारी पास पड़ोस के लोगों को होने पर मौके पर काफी संख्या में भीड़ जुट गई। तत्काल पुलिस को जानकारी दी गई। मौके पर पहुंचे कस्बा इंचार्ज जोगेद्र सिंह मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। उप निरीक्षक की पत्नी के अनुसार चोर उसके 10 हजार रुपये नगद, एक जोड़ी झाले तथा दो सोने की अंगूठी व कपड़े व अन्य सामान चोरी करके ले गये। तीन दिन से लगातार चोरी की घटनाएं हो रही है। जैसे लोगों में भय का वातावरण बनता जा रहा है।

कैफे पर किसान का रुपयों से भरा बैग शातिर ने किया पार

सादाबाद। बुधवार की दोपहर रोडवेज बस स्टैंड के सामने विद्याधर कांप्‍लेक्स में एक साइबर कैफे से युवक से हाथ में लगे थैले को अज्ञात शातिर छीनकर भाग निकला। अचानक हुई घटना को लेकर पिता पुत्र साइबर कैफे संचालक आरोप लगाने लगे।जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस द्वारा जांच पड़ताल करते हुए शातिर की तलाश की। ग्राम छतारा निवासी विजय सिंह पुत्र भगवानदास बुधवार को अपने पुत्र रंजीत सिंह के साथ किसी कार्य के लिए भारतीय स्टेट बैंक से रुपया निकालने के लिए आए थे। वह भारतीय स्टेट बैंक से डेढ़ लाख रुपया निकालकर रोडवेज बस स्टैंड के सामने स्थित विद्याधर कांप्लेक्स में केजीएन कंप्यूटर सेंटर स्थित साइबर कैफे पर गए। जहां उनका मूल निवास प्रमाण पत्र पड़ा हुआ था। रुपयों से भरा थैला रंजीत सिंह के हाथ में लगा हुआ था। युवक साइबर कैफे संचालक से बातचीत कर रहा था। इसी बीच युवक के हाथ में लगे थैले को अज्ञात शातिर छीन कर ले गया। अचानक हुई घटना से वहां सभी लोग हक्‍काबक्‍का रह गए। युवक साइबर कैफे संचालक पर मिलीभगत होने का आरोप लगाकर उसके नोकझोंक कर रहा था। इधर घटना की जानकारी पुलिस को होने पर कस्बा इंचार्ज जोगेंद्र सिंह मौके पर पहुंचे उन्होंने पीड़ित पिता पुत्र से बातचीत की तथा साइबरकैफे संचालक से भी जानकारी हासिल की। युवक के मुताबिक उसके थैली में बैंक से निकाली गई डेढ़ लाख तक चेक बुक रखी हुई थी।

Edited By: Anil Kushwaha