अलीगढ़ [जेएनएन] उफ ये गड्ढा, कांवड़ लिए सोमवार दोपहर बारहद्वारी मार्ग से गुजर रहे शिवभक्त का पैर जब गड्ढे के बाहर पड़े पत्थर से टकराया तो उसके मुंह से अनायास ही ये शब्द निकला। ये दर्द एक शिवभक्त का नहीं है, ऐसे लाखों हैं, जो इन्हीं उखड़ी सड़कों से गुजरेंगे। बारहद्वारी से पत्थर बाजार होकर गांधीपार्क चौराहे तक सड़क उखड़ी पड़ी है। पुलिया क्षतिग्रस्त है। यहीं से पड़ाव दुबे होते हुए शिवभक्त अचलेश्वर मंदिर जाते हैं। पड़ाव दुबे तिराहे से मीनाक्षी पुल मार्ग के हालात और भी दयनीय हैं, जबकि यहां से रोज हैवी ट्रैफिक गुजरता है। कांवड़ यात्रा के प्रमुख मार्गों में यह भी शामिल है। पुल से उतर कर क्वार्सी चौराहे तक उखड़े मेनहोल, गड्ढे, कूड़े के ढेर मिल जाएंगे। उधर, समद रोड से गांधी आइ हॉस्पिटल होकर रामघाट रोड पर पहुंचना भी मुश्किल भरा है। इधर, समद रोड पर रेलिंग के पास मलवा पड़ा है। नाला ढका ही नहीं गया, स्लैब बाहर ही डाल दी गई। इधर, जेल पुल से तहसील तिराहे पर सड़क जर्जर है, इसे भी ठीक नहीं कराया गया। 

कर्मचारियों की है फौज

शहर का दुर्भाग्य देखिए, जिस कांवड़ यात्रा के स्वागत-सत्कार में सड़क, शिवालय और चौराहे सज जाते हैं, वही सड़कों का बुरा हाल है। यहां प्रश्न आस्था का नहीं, उन व्यवस्थाओं का है, जिसे बनाने के लिए प्रशासन दम भरता रहा। नगर निगम ने तो 580 अफसर, कर्मचारियों की फौज खड़ी कर दी। इसमें 10 नोडल और 40 सह नोडल अधिकारी बनाए गए, जिन पर जिम्मेदारी थी। इन सभी के नाम, मोबाइल नंबर तीन दिन पहले ही सार्वजनिक कर दिए गए। हैरत की बात है कि इनमें ज्यादातर अफसरों को नगर आयुक्त के उन आदेशों की अभी जानकारी तक नहीं है। ऐसी स्थिति में क्या व्यवस्थाएं होंगी, सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

सिरदर्द बनी टूटी पुलिया

एटा चुंगी से क्वार्सी बाइपास के बीच लिंक रोड की टूटी पुलिया परेशानी का सबब बनी हुई है। आए दिन यहां हादसे होते हैं। मनीष चौहान, रवि शंकर, सत्यप्रकाश, कैलाश चंद्र आदि ने इस संबंध नगर आयुक्त से शिकायत की है। 

चार सेक्टरों में इन्हें सौंपी थी जिम्मेदारी

 सेक्टर- एक

क्वार्सी चौराहे से रामघाट होकर मीनाक्षी पुल से कंपनीबाग तक नोडल अधिकारी आरपी सिंह, अजीत राय, अतर सिंह, संजय कुमार, मुबश्शिर, प्रवीण सिंह, आलोक वर्मा, विष्णु गोपाल व्यवस्था देखेंगे। 

सेक्टर- दो

कंपनी बाग से पत्थर बाजार होकर उदयसिंह जैन रोड से खेरेश्वरधाम तक नोडल अधिकारी रमाकांत राम, राजेश जैन, हेमेंद्र गौतम, अमरीश वर्मा, प्रदीप, अब्दुल रहीम, ज्ञान मोहन, रमेश पाल देखेंगे। 

सेक्टर- तीन

मेलरोज बाइपास से जीटी रोड, नादा पुल से खेरेश्वरधाम तक नोडल अधिकारी विनय राय, राजेंद्र सिंह, कपिल कुमार, विशन सिंह, राकेश बाबू, रास बिहारी व्यवस्था देखेंगे। 

सेक्टर- चार

इगलास रोड से मथुरा बाइपास, नादा पुल से खेरेश्वरधाम तक नोडल अधिकारी प्रवीर श्रीवास्तव, सिब्ते हैदर, आरसी मथुरिया, अरुण प्रताप, आरसी सैनी, मोहन सक्सेना को जिम्मेदारी गई। 

ऐसे बांटी थीं व्यवस्थाएं

कांवड़ मार्गों पर सफाई व्यवस्था नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शिवकुमार देखेंगे। पेयजल व्यवस्था व जलभराव की समस्या दूर करने की जिम्मेदारी जीएम जल सुचिंद्र शर्मा को दी है। सड़कों की मरम्मत चीफ इंजीनियर कुलभूषण वाष्र्णेय कराएंगे। पथ प्रकाश व्यवस्था सहायक अभियंता अतर सिंह देखेंगे। प्रवर्तन दल प्रभारी रिटायर्ड कर्नल निशीथ सिंघल मार्गों से अतिक्रमण हटवाएंगे। 

भोले के द्वार, होगी जय-जयकार

 भगवान शिव की भक्ति के रंग में शहर रंग चुका है। भोले के भक्त कांवड़ लेकर प्रस्थान करने लगे हैं। रामघाट रोड पर हर-हर, बम-बम की गूंज होने लगी है। मंगलवार से विशाल कांवडिय़ों का जत्था निकलना शुरू हो जाएगा। अभी राजस्थान, आगरा आदि स्थानों के कांवडिय़ा निकल रहे हैं। 21 फरवरी को महाशिवरात्रि पर्व है। शिव भक्तों का गंगा तट की ओर निकलना शुरू हो गया है। वह रामघाट, नरौरा और सांकरा आदि गंगा तटों से जल लेकर अपने-अपने स्थान की ओर प्रस्थान करने लगे हैं। सोमवार को भी रामघाट रोड पर कांवडिय़ों का जत्था हर-हर, बम-बम करते हुए निकला। यह राजस्थान और आगरा की ओर प्रस्थान कर रहे थे। 19 फरवरी से आस्था संस्था की ओर से पराग डेयरी के सामने विशाल शिविर लगेगा। रामघाट रोड पर जगह-जगह शिविर की तैयारियां शुरू हो गई हैं। 

संभालेंगे यातायात व्यवस्था 

युवा क्रांति मंच कांवड़ यात्रा में यातायात व्यवस्था संभालेगा। मंच के महामंत्री मोनू दीवान ने कहा, महापर्व पर कार्यकर्ता शहर की यातायात व्यवस्था संभालेंगे। सासनी गेट एवं क्वार्सी चौराहे पर कार्यकर्ताओं की टीम लगाई जाएगी। महानगर उपाध्यक्ष विशाल कश्यप ने बताया कि शिव भक्तों के लिए ग्रीन पट्टी बिछाई जाएगी। जिला संपर्क प्रमुख विमल कुमार वाष्र्णेय ने कहा कि एक टीम रामघाट रोड पर भ्रमण करेगी। किसी भी कांवडिय़ों को यदि कोई दिक्कत होती है तो उनकी मदद की जाएगी। क्रांतिकारी सोनू सविता ने कहा कि मंच के कार्यकर्ता कांवड़ यात्रा के समय पूरी तरह से मुस्तैद रहेंगे। विशाल कश्यप सैनी, राजेश दिवाकर, कपिल वर्मा, अनन्या लोधी, पंकज, राजेश, दिनेश, ललितेश, गवर्नर सिंह, राघवेंद्र सिंह आदि मौजूद थे। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस