अलीगढ़, जेएनएन। गणेश चतुर्थी महोत्सव पर शनिवार को पूरा शहर गणपति बप्पा मोरया के जयकारों से गूंज उठा। भगवान गणेश की प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला प्रारंभ हो गया। अबीर-गुलाल से पूरा शहर भक्ति के रंग में रंग उठा। बड़ी संख्या में श्रद्धालु गंगा तट पहुंचे और प्रतिमा का विसर्जन किया। भगवान गणेश के जमकर जयकारे लगे।

शहर में मनाया गणेश चतुर्थी

गणेश चतुर्थी के 10 दिन के आयोजन से पूरा शहर भगवान गणेश की भक्ति में रंग गया था। शहर के श्री वाष्र्णेय मंदिर में विधि-विधान से पूजन किया गया। अचलताल स्थित श्री गणेश मंदिर में भक्ति-भाव के साथ गणेश महोत्सव मनाया जा रहा है। यहां प्रतिदिन भजन-कीर्तन और धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। अचलताल स्थित श्री गिलहराज मंदिर में शाम को भव्य आरती से पूरा माहौल भक्तिमय हो जाता है। यहां सांस्कृतिक कार्यक्रम में बच्चों के मनमोहक स्वरुप को देख हर कोई मोहित हो उठा। रावणटीला स्थित आश्रम के निकट भी भव्य गणेश पूजन चल रहा है। यहां पर प्रतिदिन बच्चे भव्य झांकी प्रस्तुत कर रहे हैं। राधा-कृष्ण, शिव-पार्वती, भगवान गणेश आदि के स्वरुप बनकर बच्चों ने मनमोहक प्रस्तुति दी। जय गणेश आरती पर भी बच्चों ने नृत्य किया। मुस्कान ने मां दुर्गा के स्वरुप में आकर्षक नृत्य प्रस्तुत किया। भाव-भंमिकाओं को देखकर हर कोई हैरत में रह गए, जैसे मानों साक्षात दुर्गा प्रकट हो गई हों, मां दुर्गा के जयकारे से पूरा परिसर गूंज उठा। मुस्कान ने श्रीकृष्ण के स्वरुप में नृत्य किया। कान्हा रे, दरस दिखा जा रहे भजन पर भक्ति रस भर दिया। इसी के साथ शहर में गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया।

श्रद्धाभाव से किया गणेश पूजन

गाड़ियों पर भगवान गणेश की प्रतिमा को रखकर भक्त राजघाट, रामघाट, नरौरा और सांकरा की ओर प्रस्थान कर रहे थे। अबीर-गुलाल उड़ाते हुए भक्त गंगा तट की ओर निकल रहे थे। शहर के रामघाट रोड, जीटी रोड, तस्वीर महल, दुबे पड़ाव आदि मार्गों से भक्तों की टोलियां निकल रहीं थीं। भगवान गणेश की प्रतिमा का भव्य श्रृंगार किया गया था। हर तरफ आस्था का सैलाब उमड़ रहा था। रविवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु प्रतिमा लेकर गंगा तट पहुंचेंगे और प्रतिमा का विसर्जन करेंगे। अवस्थी ज्योतिष संस्थान के प्रमुख आचार्य आदित्य नारायण अवस्थी ने कहा कि भगवान गणेश सभी की मनोकामना पूर्ण करते हैं, हमें उनका श्रद्धा-भाव से पूजन करना चाहिए।