अलीगढ़, जेएनएन। डीएम सेल्वा कुमारी जे ने  गुरुवार को अंडला में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि किसी भी इंडस्ट्री की स्थापना के लिए वहां औद्योगिक इकाईयों एवं निवेशकों के लिए सुरक्षित एवं भयमुक्त माहौल प्रदान करना सरकार की पहली प्राथमिता है। इसी के दृष्टिगत कॉरिडोर में कम से कम दो पुलिस चौकी अवश्य स्थापित कराई जाएं। उन्होंने कहा कि मेक इन इंडिया को साकार करने में डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। रक्षा उत्पादों के क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने में सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने निवेशकों एवं उद्यमियों का आश्वस्त करते हुए कहा कि जिला प्रशासन आपके सहयोग के लिए हर कदम पर साथ है और कॉरिडोर में आपको सभी मूलभूत एवं आवश्यक सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। उन्होंने आव्हान किया कि वह प्राथमिकता से डिफेंस कॉरिडोर में अपनी इकाईयां स्थापित करने के लिए भूमि का आवंटन कराना सुनिश्चित करें।

आवश्‍यकता के अनुरूप भूमि आवंटित करने के निर्देश

डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि डिफेंस कॉरिडोर के विकास उद्यमियों एवं निवेशकों की आवश्यकता के अनुरूप उन्हें भूमि आवंटित की जाए और यदि और भूमि की आवश्यकता होती है तो स्थानीय निवासियों की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए भूमि का अधिग्रहण किया जाए। उन्होंने डिफेंस कॉरिडोर की परिकल्पना को साकार करते हुए निर्देश दिये कि कॉरिडोर में भविष्य की जरूरतों के दृष्टिगत एडवांस डेªनेज सिस्टम स्थापित किया जाए, ताकि उद्यमियों एवं निवेशकों को जलभराव का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि इडस्ट्रीज में आकस्मिक दुर्घटनाओं से बचाव के लिए फायर स्टेशन एवं खूबसूरती व सौंदर्यीकरण के लिए पार्क की स्थापना कराई जाए। उन्होंने निराश्रित गौवंश को अस्थायी गौशाला में एकत्रित कर धीरे-धीरे अन्य सरकारी गौशालाओं स्थानान्तरित करने के निर्देश दिये।

राज्‍य विवि का देखा काम

अपर जिलाधिकारी प्रशासन डीपी पाल ने बताया कि कॉरिडोर से सम्बन्धित सभी विभाग आपसी समन्वय से कार्य कर रहे हैं, किसी भी विभाग से कोई समस्या नहीं है। डीएम ने निर्देश दिये कि डिफेंस कॉरिडोर के अटके कार्यों को जल्द से जल्द पूर्ण करें ताकि शासन की मंशा के अनुरूप यहां रक्षा उपकरणों का शीघ्र उत्पादन शुरू हो सकें। अंडला निरीक्षण से लौटने के दौरान जिलाधिकारी द्वारा राज्य विश्वविद्यालय का भी निरीक्षण किया गया।