अलीगढ़, जागरण संवाददाता। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने शुक्रवार को सपा, बसपा और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। आगामी विधानसभा चुनाव में बड़ी जीत का दावा करते हुए कहा कि यूपी ने 2014 में 73 सांसद पीएम को दिए। उस दौरान अखिलेश कहते थे कि सपा 70 से अधिक सीटें जीतेंगी। बुआ भी यही सोच रही थी। जनता ने साइकिल में पंचर किया। 2017 में जनता ने साइकिल के कई टुकड़े कर दिए। 2019 का लोकसभा चुनाव हुआ। यूपी में सबसे बड़ा गठबंधन हुआ। सपा, बसपा और रालोद एक हुए। इनके इनके सपने मुंगरी लाल जैसे रहे। अब कह रहे हैं सपा बदल गई है। क्या सपा के गुंडे बदल सकते हैं? 2022 में तीन सौ से अधिक विधानसभा क्षेत्रों में कमल खिलेगा। 2017 से बड़ी विजय 2022 में होगी। 2014 से पहले सपा, बसपा और कांग्रेस का कोई नेता अयोध्या मंदिर नहीं गया। कुम्भ नहीं आए। केवल रोजाइफ्तार तक रहे। इन्हें देश को बांटने वाले जिन्ना की याद आती है। अखिलेश को इस बार जिन्ना भी नहीं बचा सकता है। इस बार यह भारत माता की जय बोलने को मजबूर होंगे। वोट के लिए ये दल कुछ भी कर सकते हैं।

रामघाट कल्‍याण मार्ग पर बनेगा बाइपास

उन्होंने सपा व बसपा पर प्रदेश के बड़े क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाया। सर्किट हाउस में 269 करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करते हुए कहा कि सपा व बसपा ने अपने शासनकाल में कुछ जिलों का विकास और कुछ की उपेक्षा ही लक्ष्य बना लिया था। लेकिन भाजपा हर जिले में विकास कार्य करा रही है। सपा व बसपा की सरकार में जहां विकास कार्य नहीं हो सके, वहां अब हो रहे हैं। पूरे प्रदेश का तेजी से विकास हुआ है। डबल इंजन की सरकार का फायदा हुआ है। महापुरुषों और देश के लिए जीवन समर्पित करने वालों का सम्मान किया जा रहा है। अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह यूनिवर्सिटी का काम शुरू हो चुका है। रामघाट कल्याण मार्ग पर बाईपास बनेगा। चार सौ करोड़ से यह फोर लेन बनेगा। इसका प्रस्ताव बन चुका है। उन्होंने अलीगढ़ में स्थापित हो रहे डिफेंस कारिडोर की चर्चा करते हुए कहा कि पाकिस्तान में बैठे इमरान खान यह सुन लें कि अगर आतंकवादी की फैक्ट्री बंद नहीं की तो अलीगढ़ की मिसाइल इस्लामाबाद पर गिरेगी। यह मतदाताओं की ही ताकत है, जिससे धारा 370 को हटाया जा सका। केंद्र व राज्य सरकार ने किसानों के लिए बहुत काम किए हैं। कृषि कानून को लेकर कुछ लोग अपनी दुकान चला रहे हैं। पीएम ने साहसिक निर्णय लेकर इनकी दुकानें बंद कर दींं। इस दौरान अलीगढ़ के सांसद सतीश गौतम, एटा के सांसद राजवीर सिंह, एमएलसी मानवेंद्र सिंह आदि मौजूद थे।