अलीगढ़, जागरण संवाददाता।  आगरा पुलिस की हिरासत में वाल्मीकि समाज के युवक की मौत के मामले में दर्ज हत्या के मुकदमे की विवेचना अलीगढ़ रेंज के किसी जिले से कराई जाएगी। शुक्रवार को डीआइजी को यह आदेश मिल गया। इस पर शनिवार को निर्णय लिया जाएगा।

16 अक्‍टूबर की रात थाना जगदीशपुरा के मालखाने से 25 लाख चोरी हुए थे

आगरा के थाना जगदीशपुरा के मालखाने में 16 अक्तूबर की रात को 25 लाख रुपये की चोरी हुई थी। इसमें इंस्पेक्टर समेत छह पुलिसकर्मियों को लापरवाही के आरोप में निलंबित किया गया था। पुलिस ने सफाईकर्मी अरुण नरवार को हिरासत में लिया था, जिसकी मौत हो गई थी। वहीं एडीजी जोन राजीव कृष्ण ने अलीगढ़ रेंज के किसी जिले से विवेचना कराने के आदेश दिए हैं। इस संबंध में आगरा के एसएसपी की रिपोर्ट के बाद एडीजी ने विवेचना स्थानांतरण के संबंध में आदेश कर दिया है। डीआइजी दीपक कुमार ने बताया कि आदेश मिल गया है। शनिवार को विचार करके इस पर निर्णय लिया जाएगा, ताकि विवेचना पूरी तरह से निष्पक्ष हो सके।

आज कोविड के साथ नियमित टीकाकरण अभियान भी, ये है तैयारी

जिले में टीकाकरण अभियान तेजी से चल रहा है। प्रतिरक्षित लाभार्थियों का आंकड़ा करीब 20 लाख पहुंच गया है, लेकिन कोरोना काल में नियमित टीकाकरण, जिसमें विभिन्न बीमारियों से बचाव के लिए टीके लगाए जाते हैं, पिछड़ रहा है। बच्चों और गर्भवतियों को जरूरी टीके नहीं लग पा रहे। बाहर टीके महंगे होने के कारण तमाम बच्चे व गर्भवती निश्चित समय पर लगने वाले टीकों से वंचित हो रहे हैं। ऐसे में विभाग कई दिनों से उलझन में था कि कोविड टीकाकरण कराएं या नियमित टीकाकरण। क्योंकि, दोनों का स्टाफ एक ही है। अंतत: शनिवार को कोविड टीकाकरण के साथ नियमित टीकाकरण कराने का भी निर्णय लिया गया है। हालांकि, केवल जिला स्तरीय अस्पतालों में ही कोविड टीकाकरण होगे। अन्य सीएचसी, पीएचसी व सब सेंटरों पर नियमित टीकाकरण किया जाएगा।

नियमित टीकाकरण का महत्व

उप जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. शिशुओं को जीवित रहने के लिए टीकाकरण जरूरी है। नियमित टीकाकरण को छोड़ने से नवजात के जीवन पर जानलेवा प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए शिशुओं के जीवन और भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए टीके बहुत जरूरी है। यदि शिशु का टीकाकरण किया जाए तो अनेक जानलेवा बीमारियों से बचा जा सकता है। टीकाकरण बच्चों और गर्भवतियों के लिए सुरक्षा कवच का काम करता है। अपने शिशुओं का टीकाकरण करके हम अपने समुदाय के सबसे अधिक जोखिम ग्रस्त सदस्य जैसे नवजात शिशु की सुरक्षा करते हैं। इसलिए शनिवार को इस मौके का सभी लाभ उठाएं। टीकाकरण कार्ड के साथ संबंधित इकाई पर पहुंचे।

Edited By: Anil Kushwaha