अलीगढ़ : हरदुआगंज थाना क्षेत्र में माछुआ नहर पुल से बुधवार की शाम परचून की दुकान बंद कर घर लौटते समय लापता हुए दुकानदार का शव गुरुवार को गोधा थाना क्षेत्र में गांव खुटेना के निकट बंबा में मिला है। स्वजन रंजिशन हत्या की आशंका जता रहे हैं। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

हरदुआगंज क्षेत्र के गांव सिकंदरपुर मछुआ निवासी संजीव कुमार 42 वर्ष बीते कई वर्षों से गांव के निकट माछुआ नहर पुल पर परचून की दुकान चलाते थे। उनका परिवार हरदुआगंज के मोहल्ला जहांगीराबाद में रहता है। उनके बेटे कौशल ने बताया कि पिता रोज आठ बजे घर आ जाते थे। बुधवार को भी शाम साढ़े सात बजे बात हुई, जिन्होंने दुकान बंद कर चंद मिनट में घर आने की बात कही थी। करीब आधा घंटे बाद ही उनका फोन बंद जाने लगा। एक घंटे तक घर न पहुंचने पर स्वजन रात को माछुआ नहर पुल पहुंचे, जहां दुकान बंद मिली। पिता का पता नहीं चल सका। स्वजन पुलिस को सूचना देकर रातभर तलाश में जुटे रहे। गुरुवार सुबह कौशल ने गांव माछुआ व देवखेड़ा टूंडला जिला फिरोजाबाद निवासी युवकों पर शक जाहिर करते हुए हरदुआगंज थाने में तहरीर दी।

गोधा में शव मिलने की

सूचना पर मोर्चरी पहुंचे

गुरुवार सुबह स्वजन गोधा में शव मिलने की सूचना मिलने पर मोर्चरी पहुंचे और शिनाख्त संजीव कुमार के रूप में की। उनकी पत्नी पर दो बेटी व एक बेटा है।

मुंह व गले पर चोट के निशान

स्वजन के मुताबिक संजीव कुमार के चेहरे व गले पर हल्के चोट के निशान हैं, जिसे देख स्वजन छीना झपटी या जान बचाने के प्रयास में चोट लगने की आशंका जता रहे हैं। संजीव बुधवार शाम दुकान बंद कर बाइक से हरदुआगंज के लिए चले थे। नहर पुल पर मौजूद लोगों ने पुलिस के समक्ष इस बात की तस्दीक की है। वह नहर पुल से करीब 20 किमी दूर गोधा क्षेत्र में कैसे पहुंचे। बाइक व दो मोबाइल व दो थैला गायब हैं। इस रहस्य का पर्दा उठाने में के लिए पुलिस जांच में जुटी है।

बाइक गिरवी रखने पर हुई थी कहासुनी : स्वजन के मुताबिक दो माह पहले उन्होंने एक युवक की बाइक गिरवी रख ली थी। कुछ दिन पहले ही युवक बिना रकम लौटाए गाड़ी व कागज मांगने आया, जिससे कहासुनी हुई थी। स्वजन इन युवकों पर शक जाहिर कर रहे हैं। वहीं पुलिस भी पड़ताल में जुटी है। एसओ राजेश कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर स्पष्ट होगा। पुलिस हर पहलू पर जांच कर रही है। इस मामले में अभी तक तहरीर नहीं मिली है।

Edited By: Jagran