अलीगढ़ (जेएनएन)।  पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगने के एक साल बाद भी परिणाम अच्छे नहीं है। तमाम अभियान व कार्रवाई के बावजूद शहर प्रतिबंधित पॉलीथिन से अटा पड़ा है। बेचने व प्रयोग करने वाले खूब दिख रहे हैं।

ये हैं हालात 

पिछले साल जून से अगस्त तक प्रतिबंधित पॉलीथिन व प्लास्टिक क्रॉकरी के खिलाफ अभियान चलाया गया था। पिछले दिनों सीएम ने एक बार फिर सख्त आदेश दिए। उस आदेश का असर अफसरों पर दिखाई दे रहा है, मगर बेचने वाले व इस्तेमाल करने वालों पर असर नहीं है।

यह है दावा

प्रशासन व नगर निगम रोज प्रतिबंधित पॉलीथिन पकडऩे का दावा कर रहा है, मगर शहर में दुकानदार खुलकर बेच रहे हैैं। जानकारों का कहना है कि यह पॉलीथिन गुजरात से मंगवाई जा रही है। ट्रांसपोर्टर थोक विक्रेताओं को भिजवा रहे हैं। वहां से फुटकर दुकानदारों को भेजी जा रही है।

प्रमुख बाजार व स्थान

धनीपुर मंडी, छपैटी, सब्जीमंडी, ऊपरकोट, जमालपुर, क्वार्सी पैठ, कनवरीगंज, जयगंज भुजपुरा, शाहजमाल, देहलीगेट, नौरंगाबाद, आगरा रोड, रामघाट रोड, रेलवे रोड, महावीरगंज, दोदपुर, मेडिकल रोड, अमीनिशा। सबसे अधिक मीट, सब्जी व फल की दुकानों पर पॉलीथिन का इस्तेमाल किया जा रहा है। नगर आयुक्त सत्यप्रकाश पटेल का कहना है कि पॉलीथिन पूरी तरह प्रतिबंधित है। शासनादेश के अनुपालन में छापामारी जारी है। पॉलीथिन पकड़ी भी जा रही है, जुर्माना भी वसूला जा रहा है।

1.5 कुंतल पॉलीथिन पकड़ी, 40 हजार जुर्माना

सिविल लाइन क्षेत्र के दोदपुर में एसीएम द्वितीय अंजुम बी के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। यहां से 1.5 कुंतल पॉलीथिन जब्त की गई है। दुकानदारों पर कार्रवाई करते हुए 40 हजार का जुर्माना वसूला। टीम में स्वच्छता निरीक्षक अहमद हसन, राजस्व निरीक्षक दीपक श्रीवास्तव मौजूद रहे।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mukesh Chaturvedi