हाथरस, जागरण संवाददाता । जिलाधिकारी रमेश रंजन द्वारा दिए गए निर्देशों के क्रम में संचारी रोगों के प्रभावी नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों द्वारा की गयी कार्यवाही के संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अवगत कराया है कि सर्वे के दौरान जनपद में एण्टीलार्वा का छिड़काव 463 ग्रामों में किया गया है एवं आज 16 गावों में एण्टीलार्वा का छिडकाव द्वारा कराया गया है तथा आज तक 297 ग्रामों में फागिंग किया गया है। अब तक 1010 टीमों द्वारा 312530 घरों का सर्वे किया गया है। अब तक बुखार के लक्षण युक्त पाये गये व्यक्तियों की संख्या 13941 है जिनको जांच उपचार एवं दवा दे दी गई है। दिमागी बुखार, चिकिनगुनिया तथा कालाजार से संकमित जनपद में कोई मरीज नहीं है। डेंगू के धनात्मक मरीजों की संख्या- 262 है। इसके अतिरिक्त सोर्स रिडक्शन संख्या के तहत 15753 (कूलर, नाद, मटके इत्सादि) खाली कराये गए हैं, तथा पायरेथ्रम का छिडकाव 209 गांवों में किया जा चुका हैं।

गांव में कैंप लगाकर किया जा रहा उपचार

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा बुखार, डेंगू मलेरिया व अन्य संकामक रोगों के नियंत्रण हेतु सघन कार्यवाही की जा रही है। जनपद के प्राथमिक कित्सालयों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों द्वारा गांव गांव कैम्प लगाकर रोगियों का उपचार किया जा रहा है। एण्टी लार्वा स्प्रे व फौगिंग का कार्य प्रतिदिन कराया जा रहा है। आरआरटी टीमों द्वारा प्रतिदिन घर घर जाकर बुखार के रोगी खोजे जा रहे हैं तथा स्वास्थ्य कैम्प लगाकर उनको उपचारित किया जा रहा है।

घर घर पहुंच रही टीम लोगों को कर रही जागरूक

संचारी रोगों के दृष्टिगत जनपद में लगातार स्वास्थ्य विभाग, पंचायती राज विभाग, नगर निकायों के कर्मचारियों द्वारा संचारी रोगों से बचाव हेतु टीम बनाकर घर-घर जाकर लोगों को जागरूक करते हुए घरों की छत पर पड़े टायर, गमले, कूलर के पानी को खाली कराया जा रहा है। सर्वे के दौरान नगर निकाय व ग्रामीण क्षेत्रों में जल भराव की समस्या को दूर कराया जा रहा है तथा नालियों में एंटी लार्वा का छिडकाव कराया जा रहा है। कहीं पर जलभराव आदि की समस्या न होने पाए इस पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचारी रोगों के नियंत्रण के दृष्टिगत सभी जरूरी उपचार एवं दवाओं आदि की जरूरी व्यवस्था रखी जा रही है तथा सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता है जहां कहीं भी संक्रामक रोग के केस प्राप्त हो रहे है वहां पर तत्काल टीम द्वारा सैंपलिग एवं उसके रोकथाम के लिए जरूरी कार्य किए जा रहे है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचारी रोगों की रोकथाम के लिए मरीजों को समुचित इलाज मुहैया कराया जा रहा है। वर्तमान मौसम में डेंगू- मलेरिया जैसे जानलेवा रोगों से ग्रसित मरीजों के इलाज एवं रोकथाम हेतु जनसामान्य से अपील करते हुए जागरूक कर जानकारी दी जा रही है कि अपने आस-पास साफ-सफाई रखें एवं सावधानी बरतने से संचारी रोगों के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।

इन नंबरों पर फोन, मिलेगी मदद

संचारी रोगों के प्राभावी नियंत्रण हेतु कलेक्ट्रेट मुख्यालय पर कंट्रोल रूम संचालित है। कंट्रोल रूम में निम्न हेल्प लाइन नंबर 05722-227041, 227042, 227043, 227044 क्रियाशील हैं। इस कंट्रोल रूम के माध्यम से मदद मांगी जा सकती है।

Edited By: Anil Kushwaha