अलीगढ़ (जेएनएन)। इगलास विधानसभा उपचुनाव में रालोद प्रत्याशी सुमन दिवाकर का नामांकन खारिज होने के बाद रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी सख्त हो गए हैं। संगठन और प्रत्याशी की कमियों और प्रशासन के स्तर पर हुई कार्रवाई की जांच के लिए तीन पूर्व विधायकों की एक कमेटी गठित की गई है। जो नौ अक्टूबर को रालोद कार्यालय सारसौल चौराहा रामदास नगर अलीगढ़ आकर जांच करेगी और नामांकन में शामिल सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के बयान दर्ज करेगी। जांच कमेटी टिकट की दावेदारी कर रहे सभी दावेदारों से भी वार्ता करेगी।

कमेटी में ये हैं शामिल

प्रवक्ता जियाउर्रहमान ने बताया कि कमेटी में रालोद के अनुशासन समिति के प्रमुख पूर्व मंत्री धर्मवीर बालियान, पूर्व विधायक अजय तोमर, पूर्व विधायक सुदेश शर्मा हैं। पार्टी का कोई भी नेता या कार्यकर्ता इस संदर्भ में अपने बयान या पक्ष उनसे मिलकर रख सकता है।

भाजपा को हारने के लिए हुई बैठक

राष्ट्रीय लोकदल ने विधानसभा उपचुनाव में भाजपा को हराने की रणनीति पर काम करना संगठन स्तर पर शुरू कर दिया है। रालोद के अहम नेताओं ने गौंडा में बैठक कर आगे की रणनीति पर विचार विमर्श किया। प्रशासन द्वारा रालोद प्रत्याशी का नामांकन खारिज करने को चौधरी समाज और किसानो का अपमान बताया। बैठक में भाजपा को चुनाव हराकर बदला लेने का संकल्प लिया गया। जिलाध्यक्ष रामबहादुर चौधरी ने कहा कि भाजपा को हराना हमारा प्रथम लक्ष्य है। जल्द ही पार्टी बड़ा निर्णय लेगी और मीडिया के समक्ष साझा करेगी।  इस मौके पर महानगर अध्यक्ष अनीस खान, अमित ठेनुआं, संजीव चौधरी, जियाउर्रहमान, फूल सिंह धनगर, राजेश ठेनुआं, डॉ धर्मवीर, डॉ हरचरन सिंह, अशोक फौजदार, सतेंद्र चौधरी, केवल सिंह, वीरेंद्र सिंह आदि थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021