अलीगढ़, जागरण संवाददाता। ताला और तालीम की नगरी अलीगढ़ में बुधवार को 73वां गणतंत्र दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। पुलिस लाइन में इस बार कोरोना के चलते सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं हुए। लेकिन, जवानों की परेड और मार्च पास्ट ने समां बांध दिया। मुख्य अतिथि अलीगढ़ मंडल के कमिश्नर गौरव दयाल ने परेड की सलामी ली। साथ ही पांच पुलिसकर्मियों को डीजीपी के प्रशंसा चिह्न देकर सम्मानित किया। इसके अलावा कुछ पुलिसकर्मियों को प्रशस्ति पत्र भी दिए गए हैं।

ऐसे मनाया गणतंत्र दिवस

73वें गणतंत्र दिवस पर पुलिस लाइन स्थित मैदान में हर साल सांस्कृतिक समारोह के साथ भव्य आयोजन होता है। लेकिन, इस साल कोरोना के चलते यह कार्यक्रम तो नहीं हुए। लेकिन, परेड ग्राउंड को हर साल की तरह की रंगों से सजाया गया था। आकर्षक रंगोली अपनी ओर खींच रही थीं तो परेड के दौरान जवानों के कदम देखकर हर कोई गर्व की अनुभूति कर रहा था। सबसे पहले एसएसपी कलानिधि नैथानी ने परेड का अभिवादन किया। कुछ ही देर में अलीगढ़ रेंज के डीआइजी दीपक कुमार कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने भी परेड का अभिवादन किया। इसके बाद मुख्य अतिथि अलीगढ़ मंडल के कमिश्नर गौरव दयाल ने ध्वजारोहण किया। परेड का निरीक्षण किया गया और मार्च पास्ट हुआ। मुख्य अतिथि ने खाकी का महत्व बताया और पुलिसकर्मियों को ईमानदारी के साथ ड्यूटी करने के लिए प्रेरित किया। अंत में मुख्य अतिथि ने पुलिस कर्मियों को पुरस्कार वितरित किए। कार्यक्रम में एसपी देहात शुभम पटेल, एसपी सिटी कुलदीप सिंह गुनावत, एसपी ट्रैफिक मुकेश उत्तम, एडिशनल एसपी एलआइयू महेंद्र कुमार, सीओ प्रथम राघवेंद्र सिंह, सीओ द्वितीय मोहसिन खान, सीओ तृतीय श्वेताभ पांडेय समेत जिले के सभी अधिकारी मौजूद रहे।

इन पुलिसकर्मियों को मिला सम्मान

नारकोटिक्स सेल के प्रभारी जोगेंद्र सिंह, पालीमुकीमपुर थाना प्रभारी रामवकील व पुलिस लाइन में तैनात एसआइ अशोक कुमार को डीजीपी की ओर से दिए गए उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिह्न देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा वीआइपी सेल के प्रभारी अरविंद कुमार व एसआइ नेपाल सिंह को केंद्र सरकार के सराहनीय सेवा पुलिस पदक से सम्मानित किया गया।

Edited By: Sandeep Kumar Saxena