अलीगढ़ [जेएनएन] : एक रोती-चिल्लाती लड़की को देख लोगों का जमावड़ा लग गया। माहौल को भांप कर मालूम हुआ कि कोई सरफिरा उसपर एसिड फेंक कर चला गया। 'छपाकÓ फिल्म की इस कहानी को अग्रवाल महिला संगठन 'मेघाÓ की महिलाओं ने एक स्क्रिप्ट के जरिये दर्शाया। साथ ही महिला सशक्तिकरण के लिए अपनी आवाज भी बुलंद की। 

परियों के देश में कार्यक्रम

होटल आर्चिड ब्लू में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम 'परियों के देश मेंÓ सभी महिलाएं परी की भूमिका में शामिल हुईं। महामंत्री उमा अग्रवाल ने महिला सशक्तिकरण का संदेश देते हुए 'नृत्य नाटिकाÓ निर्देशित की, जिसमें पंखुरी, शालिनी, चांदनी, सुजाता, शोभा, प्रियंका ने भाग लिया। संगठन की अध्यक्षा मीनू गोयल ने महिला सशक्तिकरण का संदेश देते हुए कहा कि बेटियों को 'परीÓ जैसे प्यार के साथ समाज में पनप रही बुराइयों का सामना करना भी सिखाना चाहिए। शिक्षित करने के साथ उन्हें सुरक्षा के गुण सिखाकर सशक्त बनाना है। संचालन पूजा अग्रवाल व कविता अग्रवाल ने किया। कार्यक्रम में संस्थापक अध्यक्ष रुचि मित्तल, निर्देशक अलका गर्ग व दिव्या मित्तल, शिखा गोयल, राखी मित्तल, प्रगति अग्रवाल आदि महिलाएं मौजूद रही। 

Posted By: Mukesh Chaturvedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस