अलीगढ़, जेएनएन।  जिले को जल्द एक और सौगात मिलने वाली है। यहां प्रस्तावित जिले का नौवां छर्रा सर्किल सोमवार से शुरू हो जाएगा। छर्रा थाने में नए कार्यालय का निर्माण कार्य चल रहा है, जो दिन में पूरा हो जाएगा। इससे बरला, अतरौली व सिविल लाइन सर्किल का भार कम होगा। एसएसपी ने नए छर्रा सर्किल की जिम्मेदारी सीओ देवी गुलाम को सौंपी है।

जिले में 27 थाने

जिले में महिला थाने को मिलाकर कुल 27 थाने थे। इन्हें आठ सर्किल में बांटा गया था। इनमें शहर में तीन, जबकि देहात में पांच सर्किल थे। वहीं इस साल जिले में गोधा, महुआखेड़ा व रोरावर थाना नए खोले गए हैं। ऐसे में बरला, अतरौली व सिविल लाइन सर्किल पर भार बढ़ गया। वहीं थाना गंगीरी, दादों, छर्रा और पालीमुकीमपुर के लोगों को सीओ कार्यालय तक पहुंचने में काफी समय लगता था। विशेषकर महिलाएं, वृद्ध व दिव्यांगजनों को परेशानी होती थी। इसे देखते हुए एसएसपी कलानिधि नैथानी ने शासन से नौवां सर्किल छर्रा स्वीकृत कराया। इसका निर्माण दो दिन में पूरा हो जाएगा। एसएसपी ने 26 जुलाई से नए सर्किल छर्रा को प्रचलित करने के आदेश दिए हैं। नवसृजित सर्किल छर्रा पर देवीगुलाम को सीओ नियुक्त किया गया है। इसके अलावा कार्यालय में तीन हेड कांस्टेबल, तीन सिपाही, एक महिला सिपाही की भी नियुक्ति हुई है।

बरला व सिविल लाइन सर्किल में थे पांच-पांच थाने

अब तक बरला सर्किल में थाना बरला, गंगीरी, छर्रा, अकराबाद व विजयगढ़ शामिल था। इसी तरह सिविल लाइन सर्किल में थाना सिविल लाइन, क्वार्सी, जवां, महुआखेड़ा व गोधा शामिल था। इसी अतरौली सर्किल में थाना अतरौली, हरदुआगंज, दादों व पालीमुकीमपुर आते थे। सर्किल द्वितीय में थाना गांधीपार्क, बन्नादेवी व महिला थाना था। नए प्रस्ताव के तहत अब छर्रा सर्किल में थाना छर्रा, पालीमुकीमपुर, गंगीरी, दादों को शामिल किया गया है। इसी तरह बरला सर्किल में थाना बरला, विजयगढ़, अकराबाद रहेंगे। अतरौली सर्किल में थाना अतरौली, हरदुआगंज व गोधा शामिल होंगे। सिविल लाइन सर्किल में थाना सिविल लाइन, क्वार्सी व जवां रहेंगे। वहीं द्वितीय सर्किल में गांधीपार्क, बन्नादेवी, महिला थाना के अलावा महुआखेड़ा को रखा गया है।

पुलिस इंफ्रास्ट्रक्चर पर फोकस

जिले में एसएसपी कलानिधि नैथानी का पुलिस इंफ्रास्ट्रक्चर पर विशेष ध्यान है। इसी के चलते तीन माह के अंदर एक नया थाना रोरावर व नया सर्किल छर्रा प्रचलित किया गया। दो नए थाने महुआखेड़ा व गोधा का सुदृढ़ीकरण कर उनके चौकी क्षेत्र निर्धारित किए गए हैं। इसके अलावा जिले में एएचटीयू थाने के तौर पर गठित हुआ है। साइबर क्राइम सेवा केंद्र व नार्कोटिक्स सेल भी स्थापित किया गया है। दूसरी तरफ अपराध नियंत्रण के लिए तीन एसओजी टीम का गठन कर वाहन व अन्य साधन उपलब्ध कराए गए हैं। चौकी विहीन छह थानों में 14 पुलिस पिकेट/बीट बाक्स की स्थापना की गई है।

Edited By: Anil Kushwaha