हाथरस, जेएनएन : बूलगढ़ी मामले की जांच कर रही सीबीआइ की टीम मंगलवार को फिर गांव बूलगढ़ी पहुंची। यहां टीम ने आरोपितों संदीप, रामू और रवि के घर जाकर छानबीन की। तीनों आरोपितों का घर एक ही परिसर में है। टीम ने स्वजन से घटना के संबंध में पूछताछ की। इसके बाद छत पर जाकर भी मुआयना किया। टीम ने यहां नाबालिग आरोपित के मां को भी बुलाया। उनसे भी घटना के संबंध में जानकारी की। साथ ही यह भी जानकारी की कि नाबालिग आरोपित दसवीं से पहले कहां पढ़ता था। 

क्या है मामला

यहां 14 सितंबर को गांव बूलगढ़ी की अनुसूचित जाति की युवती पर जानलेवा हमले का मामला सामने आया था। तब उसके भाई की तहरीर के अधार पर एक आरोपित संदीप ठाकुार पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने उसे जेल भिजवाया। आठ दिन बाद युवती के बयानों के आधार पर पुलिस ने मामले में धाराएं बढ़ाते हुए तीन अन्य आरोपितों को भी नामजद किया। सभी को गिरफ्तार कर टीम जेल भेज चुकी है। 29 सितंबर को युवती की मौत के बाद काफी बवाल मचा। मुख्यमंत्री ने 30 सितंबर को इस मामले में एसआइटी जांच के आदेश दिए। इसके बाद सीबीआइ जांच की सिफारिश की थी।

कई बार पूछताछ 

बूलगढ़ी मामले में 11 सितंबर को गाजियाबाद में मुकदमा दर्ज करने साथ ही टीम यहां जांच के लिए पहुंच गई थी। पिछले 17 दिनों में टीम 35 से अधिक लोगों से पूछताछ कर चुकी है। एक-एक व्यक्ति से कई बार पूछताछ की जा रही है। आरोपित और मृतका के स्वजन से कई बार जानकारी की गई है। बूलगढ़ी प्रकरण को लेकर वायरल हुए ऑडियो और वीडियो को सीबीआइ खंगाल रही है। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस