अलीगढ़ (जेएनएन)।  लोकसभा चुनाव में गठबंधन प्रत्याशी की हार पर बसपाइयों ने मंथन शुरू कर दिया है। दरअसल, अगले कुछ दिनों में लखनऊ में समीक्षा बैठक होनी है, ऐसे में नेता यहां रही कमियों से वाकिफ हो जाना चाहते हैं।

बसपा-सपा के बूथों पर भाजपा के वोट
वरिष्ठ नेता स्वर्ण जयंती नगर स्थित गुरुकृपा अपार्टमेंट स्थित कैंप कार्यालय पर वरिष्ठ नेताओं की बैठक में उम्मीद से इतर चुनाव नतीजों पर गंभीर मंथन किया। मुख्य जोन इंचार्ज रणवीर कश्यप की उपस्थिति में सबसे ज्यादा चर्चा इसी बीत को लेकर हुई कि बसपा व सपा के बूथों पर भाजपा को वोट कैसे आईं। कहीं न कहीं संगठन स्तर पर मतदाताओं तक पहुंचने में शिथिलता रही है।

हेकिंग की आशंका नहीं
ईवीएम पर शंका की बात हुई तो नेताओं ने कहा कि वीपी पेड व ईवीएम के मत भी सामान पाए गए, इसलिए हेकिंग की आशंका नहीं है। एक नेताजी ने कहा कि जगह-जगह ईवीएम पकड़ी गईं हैं, इसलिए गड़बड़ी से ज्यादा ईवीएम बदली भी जा सकती हैं। हालांकि, ईवीएम को लेकर नेता किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंच पाए। नेताओं ने इस बात पर भी चिंता जताई कि प्रत्याशी अपने समाज के वोट भी नहीं ले पाए।

रालोद से नहीं मिला लाभ
 रालोद से गठबंधन का कोई लाभ नहीं मिला। बैठक में जल्द ही चुनाव नतीजों की लखनऊ में समीक्षा होने की जानकारी दी गई। इस मौके पर जोन इंचार्ज रोशनलाल माहौर, गजराज विमल, रघुवीर सिंह उषवा, जिलाध्यक्ष तिलकराज यादव, वरिष्ठ नेता विक्रम सिंह, जितेंद्र राही, महानगर अध्यक्ष मुकेश चंद्रा, सुनील सिंह आदि नेता मौजूद रहे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sandeep Saxena

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप