अलीगढ़: जट्टारी क्षेत्र के हामिदपुर तिराहे पर गुरुवार सुबह चेकिग कर रहे एक सिपाही को कार सवार ने टक्कर मार दी। कार चढ़ाने की कोशिश की, जिसमें सिपाही बोनट पर गिर गया। बदमाश सिपाही को करीब आधा किलोमीटर बोनट पर ही आगे ले गए, फिर फेंक दिया। इसमें सिपाही घायल हुआ है। पुलिस बदमाशों की तलाश कर रही है।

गुरुवार सुबह करीब 10 बजे टप्पल पुलिस को सूचना मिली थी कि हामिदपुर तिराहे पर दो घंटे से एक स्विफ्ट कार खड़ी है। इसमें अटैची पार करने वाला गिरोह है। दो पुरुष व एक महिला मौजूद हैं, जो संदिग्ध लग रहे हैं। पुरुषों ने महिला को कार से उतारकर टेंपो में बिठा दिया है। स्विफ्ट टेंपो के पीछे-पीछे लेकर चल रहे हैं। पुलिस ने कार को टप्पल थाने के सामने रोका, कार की डिग्गी खोलने से पहले ही कार सवार ने कार आगे बढ़ा दी। इससे आगे खड़ा सिपाही बोनट पर गिर गया। बदमाशों ने कार रोकने की बजाय रफ्तार तेज कर दी। फिल्मी स्टाइल में सिपाही को पांच सौ मीटर दूर तक ले गए। फिर सिपाही को बोनट से फेंक दिया और यमुना एक्सप्रेस वे से होते हुए फरार हो गए। थाने पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया। सीओ मोहसिन खान ने बताया कि कार में संदिग्ध सामान लग रहा था। इसे लेकर कार की तलाशी ली जा रही थी, तभी कार सवार ने कार को सिपाही पर चढ़ाने की कोशिश की, इसमें सिपाही को चोट लगी है। कार हरियाणा नंबर की थी, तलाश की जा रही है।

अटैची मार गिरोह की तलाश

23 अक्टूबर को अलीगढ़ के सुभाष चंद हामिदपुर से अलीगढ़ के लिए ईको कार में बैठे थे। इसमें दो पुरुष व एक महिला सवार थी। इन्होंने हामिदपुर व टप्पल इंटरचेंज के बीच में सुभाष के सूटकेस से आठ चांदी के सिक्के, 20 हजार रुपये पार कर दिए थे। तब से पुलिस अटैची मार गिरोह की तलाश में थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस