अलीगढ़ (जेएनएन)। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के शोध छात्र से आतंकी बने मन्नान वानी को ढेर करने की खबर आते ही गुरुवार को कुछ कश्मीरी छात्रों ने न सिर्फ 'भाई बताया, बल्कि कैंपस में आतंकी के जनाजे की नमाज तक पढऩे की कोशिश की। प्रॉक्टोरियल टीम ने रोका तो मारपीट की। कवरेज कर रहे एक मीडिया कर्मी को पीटा और दो मोबाइल फोन भी छीन लिए। एएमयू प्रशासन ने तीन कश्मीरी छात्रों को निलंबित कर दिया है। चार को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। बाकी की पहचान की जा रही है। मीडियाकर्मी ने अज्ञात छात्रों के खिलाफ लूट व जानलेवा हमले में सिविल लाइंस थाने में रिपोर्ट लिखाई है।

हालांकि एएमयू पीआरओ उमर पीरज़ादा के अनुसार एएमयू में आतंकवादी के लिए अंतिम संस्कार की प्रार्थनाओं का समाचार पूरी तरह झूठा है। ऐसा नहीं हुआ, न ही यह कभी होगा और न ही हम इसे होने देंगे। कुछ छात्रों की एक गैरकानूनी असेंबली थी लेकिन यह भी अन्य छात्रों द्वारा रोक दिया गया था।। 

एएमयू के भूू-गर्भ विज्ञान विभाग का शोध छात्र रहा मन्नान वानी जनवरी में अचानक आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़कर भाग गया था। पता तब लगा, जब रायफल लिए तस्वीर वायरल हुई। फिर, एएमयू ने उसे निलंबित कर दिया। गुरुवार को सेना द्वारा वानी समेत दो आतंकियों को ठिकाने लगाने की खबर आई तो एएमयू के करीब डेढ़ सौ कश्मीरी छात्र केनेडी हॉल के लॉन में मातम मनाने जुटे।

सूत्र बताते हैैं कि छात्रों ने मन्नान को अपना 'भाई बताया और नारे लगाए। कुछ छात्रों द्वारा हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाने की भी खबर है। हालांकि, इसकी पुष्टि नहीं हुई है। छात्र नमाज-ए-जनाजा (गायबाना) की नमाज पढऩा चाहते थे। प्रॉक्टर प्रो. एम मोहसिन खान, डीएसडब्ल्यू प्रो. जमशेद सिद्दीकी व यूनिवर्सिटी सुरक्षा गार्ड पहुंच गए। नमाज पढऩे के लिए छात्र खड़े हुए तो सुरक्षा गार्डों ने रोका। इस पर धक्का-मुक्की व मारपीट हो गई। गार्डों ने छात्रों को खदेड़ दिया।

मोबाइल फोन से वीडियो बना रहे एक मीडिया कर्मी को छात्रों ने पीट दिया। कपड़े फाड़ दिए। दो फोन भी छीन लिए। जैसे-तैसे गार्डों ने बचाया। कैंपस में तनावपूर्ण शांति है। हालांकि, शुक्रवार को स्थिति बिगड़ सकती है। इसे देखते हुए प्रशासन खास तौर पर चौकन्ना है। वहीं, एएमयू कोर्ट के मेंबर और भाजपा के अलीगढ़ सांसद सतीश गौतम ने ऐसे शरारती तत्वों पर कठोरतम कार्रवाई की मांग की है।

कश्मीरियों की बैठक में पूर्व छात्र

इंतजामिया ने तीन छात्रों को निलंबित व चार को कारण बताओ नोटिस दिया है। पता ये भी चला है कि निलंबित किए दो युवक एएमयू के वर्तमान में छात्र नहीं हैं। किसी वसीम नाम के छात्र के निलंबित किए जाने की खबर है। हालांकि इंतजामिया ने अभी किसी का नाम स्पष्ट नहीं किया है।

छात्रों ने वानी के जनाजे की नमाज पढऩे की कोशिश की थी। रोकने पर प्रॉक्टोरियल टीम से अभद्रता की। तीन कश्मीरी छात्रों को निलंबित कर दिया गया है। अन्य की पहचान की जा रही है। दूसरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। अब्दुल हामिद, रजिस्ट्रार, एएमयू

कैंपस में छात्रों के नारेबाजी करने की खबर मिली थी। हालांकि, एएमयू प्रशासन ने न कोई आधिकारिक सूचना दी, न ही पुलिस की मदद मांगी। फिर भी, हम हर गतिविधि पर नजर रखे हुए हैैं। किसी भी स्थिति में माहौल नहीं बिगडऩे देंगे। अजय साहनी, एसएसपी

 

Posted By: Ashish Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप