अलीगढ़, जागरण संवाददाता। काफी लंबे समय से इंतजार कर रहे शहरवासियाें को प्रदेश सरकार ने एक बड़ा तोहफा दिया है। सारसौल सेटेलाइट बस स्टैंड का आधुनिक तकनीक से पीपी माडल से निर्माण होगा । इसके निर्माण पर करीब 2.62 करोड़ की लागत आयेगी । शासन स्तर से इसके लिए बजट जारी करने के साथ ही निर्माण की प्रक्रिया प्रदेश मुख्यालय स्तर से शुरू कर दी गई है। उम्मींद है कि जल्द ही निर्माण कार्य शुरू हो सकेगा । ऐसा होने से यहां से सफर करने वाले यात्रियों को भी बेहतर सुविधाएं मिल सकेंगी।

दो साल पहले प्राइवेट बस स्‍टैंड को शहर से किया गया था बाहर

शहर में जाम की समस्या से निजात दिलाने को करीब दो साल पहले तत्कालीन डीएम चंद्रभूषण सिंह ने संचालित हो रहे प्राइवेट बस स्टैंड को शहर से बाहर निकलवा दिया था। इतना ही नहीं मसूदाबाद बस स्टैंड का निर्माण होने पर रोडवेज बसों का संचालन सारसौल चौराहा स्थित रोडवेज वर्कशाप के पास पड़ी करीब 42 हजार वर्ग मीटर जमीन को सेटेलाइट बस स्टैंड का नाम देते हुए यहां से बल्लभगढ़, फरीदाबाद, दिल्ली, नोयडा, हरिद्वार, ऋषिकेश, मेरठ, मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर, खुर्जा, गभाना आदि स्थानों के लिए बसों का संचालन शुरू कर दिया गया । हालांकि जल्दबाजी के चलते यहां यात्रियों के लिए किसी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध न होने से उन्हें बेहद दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। बस स्टैंड के निर्माण के लिए विभागीय अधिकारी लगातार शासन से संपर्क कर कई बार प्रस्ताव भिजवा चुके थे ।

सीएम ने पारित किया था प्रस्‍ताव

पिछले दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट में पीपी माडल पर प्रदेश भर के पुराने रोडवेज बस स्टैंड का सुंदरीकरण कराने के साथ ही नये बस स्टैंड का निर्माण कराने का प्रस्ताव पारित किया था । इसके लिए बकायदा बजट भी जारी कर दिया गया है। रोडवेज के अलीगढ़ परिक्षेत्र के प्रबंधक मोहम्मद परवेज खान ने बताया कि शासन ने सारसौल सेटेलाइट बस स्टैंड के निर्माण के लिए 2.62 करोड़ रुपये का बजट जारी किया है, जिससे आधुनिक बस स्टैंड का निर्माण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके लिए निविदा समेत अन्य प्रक्रियाएं शुरू कर दी गई हैं, जल्द ही निर्माण कार्य शुरू होगा । बस स्टैंड का निर्माण होने तक बसों का संचालन मसूदाबाद व गांधीपार्क बस स्टैंड से होगा।

Edited By: Anil Kushwaha