अलीगढ़,जेएनएन। एएमयू के प्रबंधन, विज्ञान, इंजीनियरिंग, वाणिज्य और सामाजिक विज्ञान के 95 छात्रों का सैपिएंट, आइबीएम, मर्सर, रीफी, यूफ्लेक्स केमिकल्स, साफ्ट नाइस, टैलेंट रिक्रूट, वेदांत, इंफोसिस और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन सहित अन्य बहुराष्ट्रीय कंपनियों में चयन हुआ है। प्रशिक्षण और प्लेसमेंट अधिकारी साद हमीद, सहायक प्रशिक्षण और प्लेसमेंट अधिकारी डा. जहांगीर आलम व डा मुजम्मिल मुश्ताक ने कहा कि महामारी के दौरान नौकरियों में कमी के बावजूद बहुराष्ट्रीय कंपनियां एएमयू स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों को रोजगार प्रदान कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले महीनों में इस तरह के और प्लेसमेंट ड्राइव होने वाले हैं। जाकिर हुसैन कालेज आफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलाजी के प्रशिक्षण और प्लेसमेंट अधिकारी मोहम्मद फरहान सईद ने कहा कि दोनों छात्र गोरांशी शर्मा (बीटेक केमिकल) व विला जाफर (बीई इलेक्ट्रिकल) हैं।

यूनिवर्सिटी हेल्थ आफिस ने चलाया स्वच्छता अभियान

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के यूनिवर्सिटी हेल्थ आफिस की ओर से स्वच्छता पखवाड़े के तहत कैपस में स्वच्छता अभियान चलाकर नाले-नालिओं की सफाई कराई गई। रास्तों और उनके आसपास झाडिय़ों को कटवाया गया। विभागों, आवासीय हालों की विभागीय व स्टाफ क्वार्टरों के आसपास भी सफाई कराई। यूनिवर्सिटी हेल्थ आफिसर डा. अली जाफर आब्दी ने बताया कि सभी प्रकार के कूड़ेदानों के अंदर और बाहर जमा कूड़े को पूरी तरह से साफ कराया गया। बचे हुए खाद्य पदार्थों, किचिन वेस्ट आदि का निस्तारण कराया गया। उन्होंने बताया कि स्टाफ द्वारा ङ्क्षसगल यूज प्लास्टिक का उपयोग बंद किया गया। मच्छर जनित रोगों की रोकथाम के लिए विशेष लार्वा रोधी अभियान चलाया गया और रिहायशी हालों में कूलरों के पानी को निकलवाने पर जोर दिया गया। पानी इकठ्ठा हुई जगहों पर लार्वानाशक का स्प्रे कराया गया। व्यस्क मच्छरों को नष्ट करने के लिए कैंपस में जगह जगह कीटनाशकों का स्प्रे और फागिंग की गई। डा. आब्दी ने बताया कि एडमीशन टेस्ट सेंटरों को सेनिटाइज कराया गया है। इसके साथ ही स्टाफ सदस्यों को स्वच्छता की शपथ दिलाई गई।

शोध पत्र को डब्ल्यूएचओ की मान्यता

एएमयू के कामर्स विभाग में मास्टर आफ टूरिज्म एंड ट्रैवल्स मैनेजमेंट कोर्स की को-आर्डिनेटर प्रो. शीबा हामिद और उनके शोधार्थियों सुजूद (सीनियर रिसर्च फेलो) व नसीम बनो (रिसर्च स्कालर) के शोध को डब्ल्यूएचओ की मान्यता मिली है। शोध पत्र बिहेवियरल इंटेंशन आफ ट्रैवलिंग इन द पीरियड आफ कोविड-19, ऐन एप्लिकेशन आफ द थ्योरी आफ प्लांड बिहेवियर को वल्र्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण पर अंतरराष्ट्रीय साहित्य के संदर्भ में शामिल किया गया है। इस अध्ययन में नियोजित व्यवहार के सिद्धांत का उपयोग करके भारतीय यात्रियों के कोरोना वायरस की अवधि में यात्रा करने के व्यवहारिक योजनाओं की जांच की गई है। प्रो. शीबा हामिद ने कहा कि यह अध्ययन यात्रियों, पर्यटन और आतिथ्य उद्योग, सरकार, विमानन उद्योग और अन्य संबंधित संगठनों के लिए लाभदायक साबित हो सकता है।

प्रो आरके तिवारी एग्जीक्यूटिव कौंसिल के सदस्य नियुक्त

एएमयू के डा. जियाउद्दीन अहमद डेंटल कालेज के प्रिंसिपल प्रो. राजेंद्र कुमार तिवारी को वरिष्ठतम प्राचार्य के क्रम में अमुवि एक्जीक्यूटिव कौंसिल का सदस्य नियुक्त किया गया है।