जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : सुगंधित पौधों से तेल निकालना आसान काम नहीं है। इस प्रक्रिया में काफी समय लगता है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के वनस्पति विज्ञान विभाग के प्रो. मसरूर खान ने इंडक्शन कूलर व इंडक्शन हीटर का उपयोग करके पौधों से इत्र व तेल निकालने का आधुनिक तरीका खोज निकाला है। उन्होंने इस इस विधि का नाम फोर्ट (फास्ट आयल रिकवरी तकनीक) दिया है। यह सामान्य विधि से लगभग चार गुना तेजी से काम करती है। इससे मैंथा, पुदीना, पिपरमिट, गुलाब, लैवेंडर, लेमनग्रास, तुलसी, खस आदि का तेल बहुत ही आसानी से निकाला जा सकता है।

प्रो. मसरूर ने बताया कि इस तकनीक से एक किलो पुदीना से तेल सिर्फ 45 मिनट में निकाला जा सकता है। सामान्य तरीके से करीब तीन घंटे लगते हैं। इस प्रक्रिया में बिजली की लागत एक चौथाई से भी कम है। सामान्य विधि में लगभग 250 लीटर नल का पानी ठंडा करने के लिए उपयोग किया जाता है जबकि इस विधि में केवल एक या दो किलोग्राम बर्फ खर्च होती है। कार्यस्थल पर अधिक गर्मी उत्पन्न नहीं होती है। प्रो. मसरूर के अनुसार इस परियोजना में डा. मुहम्मद नईम व डा. तारिक आफताब भी शामिल रहे। अब इस तकनीक का पेटेंट कराया जा रहा है। इससे पहले वह नैनो कणों के माध्यम से पिपरमिट के उत्पादन को बढ़ाने के लिए पेटेंट करा चुके हैं। प्रो. मसरूर ने एएमयू से पीएचडी व ओहियो स्टेट यूनिवर्सिटी, यूएसए से पोस्ट डाक्टोरल फेलोशिप प्राप्त की है। वे लगभग 40 वर्षों से शोध व अध्यापन कार्य कर रहे हैं।

Edited By: Jagran