अलीगढ़, जागरण संवाददाता । शहर में बने कूड़ा कलेक्शन प्वाइंट सुबह निर्धारित समय पर साफ हो जाएं तो राह आसान हो जाए। राहगीर पैदल निकल सकें, वाहनों के फिसलने का डर भी न रहे। दैनिक जागरण के बुधवार के अंक में जागरण आपके द्वार कार्यक्रम के तहत ऐसी ही दुश्वारियों से पाठकों को रुबरू कराया गया था। इसमें सासनीगेट क्षेत्र में पला रोड के उन स्थानों का जिक्र था, जहां हर रोज कूड़े का ढेर लगता है। खबर का संज्ञान लेकर एटूजेड प्रबंधन ने सुबह नौ बजे ही एक टीम को मौके भेज दिया और पूरे रोड पर सफाई अभियान छेड़ दिया। जगह-जगह चूना डाला गया। कुछ देर बाद ही सड़क साफ-सुथरी नजर आने लगी। एटूजेड की टीम ने कलेक्शन प्वाइंट की सफाई के बाद वहां कूड़ा न डालने की क्षेत्रीय लोगों से अपील की है।

सड़कों पर बने कलेक्‍शन प्‍वाइंट पर डाला जाता है कूड़ा

शहर से प्रतिदिन 450 मीट्रिक टन कूड़ा निकलता है। यह कूड़ा गली-मोहल्लों से उठाकर सड़कों पर बनाए गए कलेक्शन प्वाइंट पर डाला जाता है। यहीं से कूड़ा निस्तारण के लिए मथुरा रोड स्थित एटूजेड प्लांट ले जाया जाता है। पला रोड पर नगर निगम ने दो कूड़ा कलेक्शन प्वाइंट बनाए थे। इनमें एक प्वाइंट बैंक कालोनी के नुक्कड़ पर बना था, जिसे कुछ साल पहले ही खत्म करा दिया गया। एक बड़ा प्वाइंट अब भी है। यही कूड़ा कलेक्शन प्वाइंट क्षेत्रीय लोगों के लिए मुसीबत बना हुआ है। सफाई कर्मचारियों के अलावा स्थानीय लोग भी यहां कूड़ा फेंक आते हैं। यह कूड़ा सड़क तक फैलता है। स्कूली बच्चों, राहगीरों को काफी परेशानी होती है। क्षेत्रीय लोगों की मांग है कि ये कूड़ा कलेक्शन प्वाइंट खत्म करा दिया जाए, लेकिन नगर निगम अधिकारी इस पर कोई निर्णय नहीं ले पा रहे। यही वजह है कि घनी आबादी वाले इस इलाके में कचरा हर रोज मुश्किलें खड़ी कर रहा है। बुधवार सुबह नौ बजे यहां पहुंची एटूजेड की टीम ने क्षेत्रीय लोगों को भरोसा दिलाया कि प्रतिदिन सुबह निर्धारित समय 10:30 बजे तक कूड़ा उठा लिया जाएगा। क्षेत्रीय लोगों को कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। टीम में सेनेटरी इंस्पेक्टर अनिल ङ्क्षसह, सुपरवाइजर गजेंद्र मोहन, जोनल सुपरवाइजर मोनू दीवान, अमित लाल, कुलदीप ङ्क्षसह, राजन, ङ्क्षरकू, विकास, गौरव आदि थे।

नाले में ही खड़ी कर दी दीवार

विद्युत विभाग की संवेदनहीनता देखिए, कलेक्शन प्वाइंट पर ट्रांसफार्मर रखने के लिए नाले में ही दीवार खड़ी कर चबूतरा बना दिया। इससे नाले की निकासी अवरुद्ध हो रही है। कचरा यहां फंस जाता है। सफाई कर्मियों को काफी दिक्कत होती है।

इनका कहना है

सड़क इतनी चौड़ी नहीं है कि कूड़ा कलेक्शन प्वाइंट बना दिया जाए। काफी परेशानी होती है। कचरे के ऊपर से होकर निकलना पड़ता है। यह प्वाइंट खत्म होना चाहिए।

श्वेता कौशिक, पला रोड

....

रिहायशी इलाकों में सड़क पर कूड़ा पडऩा ही नहीं चाहिए। इससे बीमारियां फैलती हैं। स्कूली बच्चे हर रोज परेशानी झेलते हैं। निगम अधिकारी इस ओर ध्यान दें।

पूनम वाष्र्णेय, राम विहार पला रोड

......

पला रोड पर तीन स्कूल हैं। छोटे-छोटे बच्चे स्कूल जाते हैं। रास्ते में उन्हें कचरा मिलता है। बारिश हो जाए तो परेशानी और बढ़ जाती है। कचरा सड़क पर फैल जाता है। नगर आयुक्त इसका संज्ञान लें।

मधुर कौशिक, पला रोड

Edited By: Anil Kushwaha