जासं, अलीगढ़ : सासनीगेट क्षेत्र के सराय मिस्त्र में युवक की हत्या के बाद तीसरे दिन भी तनाव बना रहा। गुरुवार को एक महिला ने आरोपित को मोहल्ले में ही घूमते देखा तो शोर मचा दिया। देखते ही देखते हुए लोग उग्र हो गए और हंगामा करने लगे। जैसे तैसे फोर्स ने हालातों को संभाला। वहीं, गिरफ्तार किए गए आरोपित शंकर को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

सासनीगेट क्षेत्र के सराय मिस्त्र में मंगलवार रात सट्टे के विवाद में वाल्मीकि व कोरी समाज के लोगों में झगड़ा हुआ था। इसमें वाल्मीकि समाज के शक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। गुस्साए लोगों ने आरोपित के घर में तोड़फोड़ की थी। दूसरे दिन बुधवार को भी लोगों ने हंगामा किया। कड़ी सुरक्षा के बीच अंतिम संस्कार किया गया। वहीं, तीसरे दिन गुरुवार को भी तनाव बरकरार रहा। पुलिस बल तैनात था। इसी बीच दोपहर करीब तीन बजे एक महिला ने नामजद आरोपितों में से एक को मोहल्ले में घूमते देखा। बताया कि आरोपित चाय पी रहा था। जैसे-जैसे लोगों को यह जानकारी मिली, लोग इकट्ठा होते गए। भीड़ ने आरोपित की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। सीओ फोर्स के साथ पहुंचे। पूरे इलाके में दबिश दी गई, लेकिन, आरोपित नहीं मिले। उनके घर पर ताला लगा था। वाल्मीकि समाज के नेता भी आ गए। लोगों को समझाकर शांत किया गया। सीओ सुदेश गुप्ता ने बताया कि एक महिला ने किसी आरोपित को देखा था। काफी तलाश की गई, लेकिन कोई पता नहीं चला। आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस