हाथरस, जेएनएन। सादाबाद में ग्रामीणों की बकरी चराकर परिवार का पालन पोषण करने एक अधेड़ की सोमवार की सुबह बरसात के कारण टपकने वाली छत पर त्रिपाल डाल कर वापस आते समय पैर फिसल जाने के कारण नीचे गिर पड़ा जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हालांकि स्वजन उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए लेकिन चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया अधेड़ की मौत से स्वजन में हाहाकार मच गया है।

गरीबों को नहीं मिल रहा प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

आज भी क्षेत्र में कई ऐसे गांव हैं,जिनमे गरीबों के घर नितांत कच्चे हैं। लेकिन गांव की सरकार प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ ऐसे लोगों को नहीं दिला रही बल्कि उन लोगों को इसका लाभ मिला रही है जो आर्थिक रूप से मजबूत हैं। जिसके कारण यह गरीब मजदूर वर्ग के लोग आज भी कच्चे घरों में रहने को मजबूर है।गांव नौगांव के 60 वर्षीय राम गोपाल पुत्र रतीराम गरीब मजदूर परिवार से हैं। वह गांव के लोगों की भेड़ बकरियां चलाकर अपने परिवार का जीवन यापन करते हैं उनका घर भी कच्चा बना हुआ है। बरसात के दौरान घर की छत से पानी टपकता था। सोमवार की सुबह करीब 11 बजे हुई बरसात के कारण छत से पानी टपक रहा था। छत पर त्रिपाल डालने को लेकर वह ऊपर चढ़े।

त्रिपाल डालकर लौटते समय हुआ हादसा

रामगोपाल त्रिपाल डालकर जब वापस लौट रहे थे, तो उनका पैर फिसल गया और वह नीचे ईटों में ढेर में आकर गिर गए। पैर फिसलने के कारण नीचे गिरते ही रामगोपाल के प्राण पखेरू उड़ गए। स्वजन को जानकारी होते ही वह तत्काल उनको लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे।जहां चिकित्सकों द्वारा उन को मृत घोषित कर दिया। हालांकि मृतक के स्वजन द्वारा पुलिस की किसी भी कार्यवाही से इंकार कर दिया और शव को लेकर गांव चले गए।

Edited By: Anil Kushwaha