वरिष्ठ संवाददाता, अलीगढ़ : सासनीगेट इलाका रविवार की शाम फायरिंग से दहल उठा। बाइकर्स ने सपा नेता और उनके भाई को निशाना बनाते हुए गोलियां चलाईं। सपा नेता तो बाल-बाल बच गए, मगर भाई को दो गोलियां लगीं। एक राहगीर को भी गोली लगी।

सपा के महानगर महामंत्री दिनेश यादव रविवार शाम सासनीगेट थाने में अपने साथी के साथ बैठे थे, तभी उनके मोबाइल पर सासनीगेट स्थित यादव ढाबा के मालिक शेरू ने सूचना दी कि एक संदिग्ध बाइक काफी देर से घूम रही है। ये सुनकर दिनेश यादव साथी के साथ ढाबे पर पहुंच गए। उन्होंने देखा कि काले रंग की करिज्मा बाइक पर संदिग्ध तीन युवकों की निगाहें किसी को तलाश रही हैं। सपा नेता ने युवकों से पूछा कि ये बाइक किसकी है? युवक ने जवाब दिया कि बाइक उनकी ही है। इस पर सपा नेता ने कहा कि यदि बाइक उसकी है तो कागज कहां हैं? इस बीच सपा नेता का भाई कौशल उर्फ केके यादव भी पहुंच गया। इस पर बाइक सवार एक युवक ने पिस्टल निकाली और सपा नेता व उनके भाई पर निशाना बनाते हुए फायरिंग कर दी। दिनेश तो बच गए मगर दो गोलियां केके को लगीं। एक गोली राहगीर अमित गुप्ता पुत्र सुभाष गुप्ता निवासी कासगंज को लगी। वह अपनी बहन के लिए दवा लेने मेडिकल स्टोर पर जा रहा था। सपा नेता के भाई को पहले तो जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से मेडिकल कालेज रेफर कर दिया गया। अमित का जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। सपा नेता दिनेश यादव का कहना है कि गोलियां चलाने वाले भूरा हत्याकांड के मुख्य अभियुक्त प्रेम सिंह के गुर्गे थे। भूरा हत्याकांड की पैरवी उनके स्तर से की जा रही है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर