जागरण संवाददाता, अलीगढ़ : जिले में कोरोना संक्रमित रोगियों की बढ़ती संख्या के बीच राहत की बात भी है। बुधवार को 201 नए संक्रमित रोगी सामने आए, वहीं 253 को स्वस्थ होने पर होम आइसोलेशन व अस्पतालों से डिस्चार्ज किया गया। इससे सक्रिय रोगियों की संख्या में गिरावट आई। अब 1454 सक्रिय रोगी हैं। कोरोना की पहली लहर से अब तक 108 रोगियों की मृत्यु हुई है।

यहां मिले संक्रमित : बुधवार को 30 बच्चों की रिपोर्ट संक्रमित आई। सीएचसी खैर के दो व सीएचसी गभाना की महिलाकर्मी संक्रमित मिलीं। मेडिकल कालेज के 15 लोग संक्रमित निकले। प्रोफेसर कालोनी, सर सैयद नगर, रामबाग कालोनी, आवास विकास, हरदुआगंज, अकराबाद, राजपुर, गभाना, गौंडा, सुरक्षा विहार, राज्य कर्मचारी कालोनी, जिला कारागार, शिवशक्ति धाम, ग्रीन अपार्टमेंट, विक्रम कालोनी, चमेली निवास, भुजपुरा, इगलास, क्वार्सी, सीएचसी जवां समेत शहर व देहात तक में संक्रमित रोगी सामने आए। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने इन इलाकों में जाकर 324 घरों का भ्रमण किया। लक्षणों के आधार पर चिह्नित 239 रोगियों को कोराना रोधी औषधि किट का वितरण किया।

टीकाकरण पर जोर : कोरोना की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग का कोविड टीकाकरण पर जोर है। बुधवार को सीएमओ डा. नीरज त्यागी ने पीएचसी पनैठी, जसरथपुर ट्रामा सेंटर व सीएचसी अकराबाद का निरीक्षण किया। स्टाफ को टीकाकरण बढ़ाने के निर्देश दिए। सीएमओ ने बताया कि जिले में लक्ष्य के अनुसार शत-प्रतिशत जनसंख्या को कोरोना रोधी टीके लगाए जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग अधिक से अधिक बूथ व मोबाइल टीमों के जरिए घर-घर पहुंच रहा है। ओमिक्रोन का खतरा निरंतर बढ़ता जा रहा है। सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि ओमिक्रोन को लेकर भयभीत होने की जरूरत नहीं है, लेकिन सतर्कता जरूर बरतनी होगी। कोविड प्रोटोकाल के साथ कोविड टीकाकरण आपको ओमिक्रोन से सुरक्षित रखेगा। बुधवार को 36 हजार 179 लोगों को टीके लगाए गए।

.......

ये बरतें सावधानी

- घर से निकलें तो मास्क लगाकर ही निकलें।

- दोस्तों-परिचितों से हाथ मिलाने की बजाय जोड़कर अभिवादन करें।

- हाथों को बार-बार साबुन या सैनिटाइजर से साफ करते रहें।

- भीड़भाड़ वाली जगह पर शारीरिक दूरी का पालन करें।

- बाहर से लौटे तो मास्क को सुरक्षित स्थान पर रख दें और अच्छी तरह हाथ धोएं।

- बुखार या अन्य लक्षण दिखने पर सतर्क हो जाएं और डाक्टर से जरूर मिलें।

Edited By: Jagran