Move to Jagran APP

आगरा में मोहर्रम के दौरान लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, पथराव

कल रात ताजिये सुपुर्द-ए-खाक करने के बाद वे फिर से नारेबाजी करने लगे, दूसरे संप्रदाय के विरोध के बावजूद जब नारेबाजी जारी रही, तो बस्ती के युवकों ने पिटाई कर दी।

By Amal ChowdhuryEdited By: Mon, 02 Oct 2017 10:25 AM (IST)
आगरा में मोहर्रम के दौरान लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, पथराव
आगरा में मोहर्रम के दौरान लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, पथराव

आगरा (जागरण संवाददाता)। ताजिये के जुलूस के बाद पाकिस्तान जिंदाबाद के नारों से आगरा का किरावली क्षेत्र में रविवार रात तनाव फैल गया। दोनों संप्रदाय के लोग आमने-सामने आ गए और जमकर पथराव हुआ। तीन लोग हिरासत में लिए गए हैं। पुलिस अधिकारी देर रात तक कस्बे में जमे थे।

किरावली के आजाद मोहल्ला में वजीर के घर के सामने पहली बार ताजिया रखा गया था। यहां शनिवार आधी रात डेक पर गाने चल रहे थे। बस्ती के लोगों के मुताबिक, युवकों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। उन्होंने पुलिस से मामले की शिकायत की। चौकी इंचार्ज वहां पहुंचे और संप्रदाय विशेष के युवकों को समझाकर वापस हो गए।

रविवार रात आठ बजे ताजिये सुपुर्द-ए-खाक करने के बाद वे फिर से नारेबाजी करने लगे। दूसरे संप्रदाय के विरोध के बावजूद जब नारेबाजी जारी रही, तो बस्ती के युवकों ने एकजुट होकर उनकी पिटाई कर दी। इसके बाद दोनों पक्षों में मारपीट हुई।

इस पर पथराव शुरू हो गया, जो करीब आधा घंटे चला। बाद में पहुंची पुलिस ने तीन युवकों को हिरासत में ले लिया। बाद में एसपी पश्चिम अखिलेश नरायण सिंह, सीओ अछनेरा सत्यम पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

यह भी पढ़ें: सीएम योगी ने कहा, 'हर हाल में मुझे अपराध मुक्त प्रदेश चाहिए'

बस्ती के लोगों का कहना है कि वजीर और उसके भाइयों के घर में कुछ दिन से दो दर्जन से अधिक लोग रुके थे। उनकी गतिविधियां संदिग्ध थीं। एसपी पश्चिम ने बताया कि इंस्पेक्टर को जांच के बाद दोषियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें: कानपुर में मोहर्रम का जुलूस निकालने के विवाद में पथराव व आगजनी