आगरा, जागरण संवाददाता। राम मंदिर पर फैसला आने के बाद अब विहिप और बजरंग दल उसके भव्य स्वरूप की तैयारी में जुटा है। अयोध्या प्रकरण को वर्तमान स्थिति तक पहुंचाने वाली कड़ी कारसेवक और पूर्व कार्यकर्ताओं को सम्मानित करने और सभी में नई ऊर्जा भरने का काम किया गया।

जयपुर हाउस स्थित महाजन भवन में गीता जयंती के उपलक्ष्य में रविवार को आयोजित कार्यक्रम में आरएसएस के प्रांत व्यवस्था प्रमुख भवेंद्र ने कहा कि जिस दौर में राम मंदिर आंदोलन हुआ था, पूरा देश राममय हो गया था। रामलला तो अयोध्या में जल्द ही स्थापित होने वाले हैं, लेकिन रामराज्य तभी आएगा जब हम नारी का सम्मान करना शुरू करेंगे। उन्होंने कहा कि राम मंदिर आंदोलन एक मंदिर की नहीं सांस्कृतिक और असंख्य हिंदुओं के स्वाभिमान की लड़ाई थी। बजरंग दल प्रांत सहसंयोजक एवं कार्यक्रम संयोजक दिग्विजय नाथ तिवारी ने बताया कि इस अवसर पर 93 कारसेवक और विहिप एवं बजरंग दल के पूर्व पदाधिकारियों का सम्मान किया गया। अध्यक्षता प्रांत उपाध्यक्ष सुनील पाराशर ने की। इस दौरान सुनील कुमार, अशोक कुलश्रेष्ठ, राकेश त्यागी, रीना, धर्मेद्र शर्मा, केशो मेहरा, दीपक अग्रवाल आदि मौजूद थे। 

Posted By: Tanu Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस